Azam Khan को सता रही जान की चिंता, कहा- हमारा Encounter हो सकता है

आजम खान को रविवार की सुबह लगभग पौने पांच बजे रामपुर जेल से बाहर निकल गया। जेल से बाहर निकालने के दौरान आजम खान ने आशंका जताई कि उनका एनकाउंटर किया जा सकता है। आजम खान की पत्नी और पूर्व राज्यसभा सांसद तंजीन फातिमा को रामपुर जिला जेल में ही रखा गया है।

Azam Khan को सता रही जान की चिंता, कहा- हमारा Encounter हो सकता है

समाजवादी पार्टी के सीनियर नेता आज़म खान और उनके बेटे अब्दुल्लाह आजम खान को उत्तर प्रदेश की रामपुर जेल से निकलकर सीतापुर और हरदोई जेल में भेज दिया गया है। जानकारी के मुताबिक आजम खान को रविवार की सुबह लगभग पौने पांच बजे रामपुर जेल से बाहर निकल गया।

जेल से बाहर निकालने के दौरान आजम खान ने आशंका जताई कि उनका एनकाउंटर किया जा सकता है। बता दें कि आजम खान की पत्नी और पूर्व राज्यसभा सांसद तंजीन फातिमा को रामपुर जिला जेल में ही रखा गया है और उन्हें किसी अन्य जेल में शिफ्ट नहीं किया गया है। गौरतलब है की आजम खान, और उनके बेटे अब्दुल्लाह आजम को डबल जन्म प्रमाण पत्र मामले में आजम खान, उनकी पत्नी तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को कोर्ट ने 18 अक्टूबर को 7-7 साल की कैद और 50 हजार रुपये जुर्माना लगाया है।

जेल अधिकारियों का कहना है कि दोनों नेताओं को दूसरे जेल में भेजा गया है। इसमें आजम खान अब सीतापुर जेल में रहेंगे जबकि अब्दुल्ला को हरदोई जेल में भेजा गया है। बता दें कि अब्दुल्ला आजम खान के दो अलग-अलग जन्म प्रमाण पत्रों के मामले में 18 अक्टूबर 2023 को आजम खान उनकी पत्नी पूर्व सांसद डॉ. तजीन फातिमा और छोटे बेटे अब्दुल आजम खान को अदालत ने दोषी करार दिया था। इसके बाद कोर्टन े दोनों को सात वर्ष की सजा सुनाई थी। अदालत के आदेश के बाद दोनों को रामपुर जिला कारागार भेज दिया गया था। अदालत के आदेश के बाद अब आजम और अब्‍दुल्‍ला की जेलें बदल दी गई है। हालांकि आजम की पत्नी तजीन फातिमा की जेल को नहीं बदला गया है। वो अब भी रामपुर जिला जेल में ही रहेंगी।

 

अब्दुल्ला ने जताई पिता की चिंता

वहीं सुबह जब आजम खान को पुलिस के कैदी वाहन में बैठाकर ले जाने लगे तो उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खान ने ऐसा करने से मना कर दिया। जानकारी के मुताबिक अब्दुल्ला ने कहा कि इस पुलिस की गाड़ी में बब्बा नहीं बैठ पाएंगे, बाबा की कमर इस काबिल नहीं है। इसी दौरान आजम खान ने जेल के बाहर मौजूद पत्रकारों से कहा कि हमारा एनकाउंटर भी हो सकता है। कुछ भी हो सकता है।

इसके बाद आजम खान ने बेटे से बात करते हुए कहा कि तुम इस गाड़ी में जाओगे, क्या चले जाओगे, बैठ जाओ आराम से, बहुत ही मजबूती से...। जब आज़म खान को पुलिस की जीप में पिछली सीट के बीच मे बैठाने को कहा गया तो आजम खान पुलिस से कहते हुए सुने गये कि हम बीच में नहीं बैठ पाएंगे। पुलिस ने आजम खान से दोबारा कहा, बीच में बैठ जाइए तो इस पर करीब 75 वर्षीय आजम खान ने कहा कि नहीं बिल्कुल नहीं बैठ पाएंगे, बीमार आदमी हैं, हमारी कमर ही इस काबिल नहीं कि बीच में बैठ पाएं, नहीं हम बिल्कुल बीच में नहीं बैठ सकते, आप हमारी उम्र का तो ख्याल रखें, आप हमारे हाथ पैर तोड़ कर ले जाओ लेकिन हम बीच में नहीं बैठ पाएंगे। इसके बाद पुलिस उन्‍हें किनारे की सीट पर बिठाकर सीतापुर ले गयी। 

इस बीच हरदोई से मिली खबर के अनुसार अब्‍दुल्‍ला आजम हरदोई जिला कारागार में पहुंच गये। हरदोई जिला कारागार के जेलर संजय सिंह ने बताया कि अब्दुल्ला को रामपुर से आज सुबह हरदोई जेल लाया गया है। सीतापुर से मिली खबर के अनुसार इस बीच रविवार सुबह करीब नौ बजे आजम खान सीतापुर जेल में पहुंच गये। प्रशासनिक सूत्रों ने बताया कि आजम खान को सीतापुर जिला कारागार में दाखिल किया गया है। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता को कड़ी सुरक्षा में रामपुर जेल से सीतापुर लाया गया। आज सुबह करीब नौ बजे आजम खान सीतापुर जेल पहुंचे। इससे पहले समाजवादी नेता ने एक अन्य आपराधिक मामले में दो साल से अधिक समय तक सीतापुर जेल में बिताया था और उच्चतम न्यायालय से जमानत मिलने के बाद मई 2022 में रिहा हुए थे