निष्पक्ष जन अवलोकन। सहीर अहमद। बाराबंकी। बैठक में राम मंदिर भारत की सांस्कृतिक पहचान ,हिंदुत्व की आत्मा तथा राष्ट्र मंदिर का जीता जागता स्वरूप है। श्री राम मंदिर भूमि पूजन की वर्षगांठ के अवसर पर विश्व हिंदू महासंघ, महा आरती, शोभायात्रा, झांकी, गोष्ठी, श्री राम नाम संकीर्तन इत्यादि विविध कार्यक्रमों का आयोजन करेगा।
उक्त बातें विश्व हिंदू महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष भिखारी प्रजापति ने प्रदेश कार्यसमिति की वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए कही। बाराबंकी जिलाध्यक्ष बब्लू वर्मा ने कहा कि राम नहीं तो राष्ट्र नहीं। सदियों की प्रतीक्षा के बाद देश दुनिया में बसे करोड़ों हिंदुओं की आस्था के प्रतीक, अयोध्या में 5 अगस्त 2020 को मा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिव्य भव्य राम मंदिर निर्माण हेतु भूमि पूजन कर एक नए युग का सूत्रपात किया। श्री राम मंदिर राष्ट्र की अभिलाषा का प्रकटीकरण है।
विश्व हिंदू महासंघ अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष योगी आदित्यनाथ जी महाराज के आशीर्वाद से संपूर्ण उत्तर प्रदेश में भूमि पूजन की पहली वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर जिला प्रशासन की अनुमति से, कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए 4 अगस्त को हर गांव के मंदिर, धर्म स्थल से लेकर शहरों के मंदिरों में आरती, महा आरती, श्री राम नाम संकीर्तन,आरती, झांकी, 5 अगस्त 2021 को शोभा यात्रा, धर्मध्वजा का आरोहण कर उत्सव के रूप में मनाएगा ।