निष्पक्ष जन अवलोकन।
अजय रावत।
सिरौलीगौसपुर बाराबंकी। आवास की सूची में अपात्रों केनाम दर्ज पात्रों के सूची में नाम नदारद।
मामला तहसील क्षेत्र के ग्राम पंचायत किन्तूर का है जंहा के मुजम्मिल पुत्र असफाक का नाम आवास की सूची में क्रम संख्या 136 पर पूर्व प्रधान ने दर्ज कराया था। जिनके पिता व भाई का बीस लाख की कीमत का बडा एंव आलीशान मकान बना हुआ है ।
मुजम्मिल ने उच्च अधिकारियों को आवास दिये जाने बाबत शिकायती प्रार्थना पत्र भी दिया जिसकी जांच सहायक विकास अधिकारी पंचायत अभय शुक्ला ने किया तो पाया कि आवास सूची में अपात्रों को दर्ज किया गया है। मौके की जांच के पश्चात सहायक विकास अधिकारी ने बताया है कि मुजम्मिल ने शिकायत मे जो आरोप लगाया है वह बेबुनियाद है इनके पिता भाई व स्वंय एक ही मकान में रहते हैं आवास सूची में नाम दर्ज होने के चलते मकान से थोडी दूर पर पन्नी डाल रखी है। जिसमें रहने की बात बताकर आवास पाने की जुगत कर रहे हैं।
इस बाबत ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अकरम ने बताया है कि मुजम्मिल के पिता का पक्का मकान काफी बडा बना हुआ है परिवार सहित उसी मे रहते हैं आवास सूची में नाम होने के कारण बगल में पन्नी तान कर आवास पाने के लिए यह रहें हैं। इनसे गरीब परिवार गांव में है जो झुग्गी झोपड़ी में रह रहे हैं पहले उन्हे सर पर छत मुहैय्या कराना लक्ष्य रहेगा।