*भाजपा का ई-चिंतन शिविर आयोजित। *श्यामाप्रसाद के पदचिन्हों पर चल कर भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनी।

निष्पक्ष जन अवलोकन। नितेश मिश्रा। बाराबंकी।भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक ने कहा कि डॉ मुखर्जी के राजनैतिक आंदोलन की वजह से ही संसद में भाजपा की 3 से 300 तक की यात्रा सम्भव हो सकी।डॉ मुखर्जी के तीन ऐतिहासिक योगदान की बदौलत स्वतन्त्रता के बाद भारत के इतिहास की धारा बदल गयी।प्रदेश उपाध्यक्ष गुरुवार को भाजपा के ई-चिंतन शिविर को ऑनलाइन माध्यम से बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे। डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी -‘जीवन एवं विचार ‘ विषय पर बोलते हुए उन्होने कहा कि डॉ मुखर्जी के प्रयासों ने पूरे बंगाल को जिन्ना के पाकिस्तान का हिस्सा बनने से बचा लिया।उन्ही के प्रयासों से पश्चिम बंगाल बन सका। एक राष्ट्र-एक संविधान का सपना साकार करने के लिए 21 अक्टूबर 1951 को भारतीय जनसंघ की स्थापना करके नए राष्ट्रवादी राजनैतिक आंदोलन की शुरुआत की।उन्होने ‘ एक देश,दो विधान दो प्रधान ‘ को सिरे से नकारते हुए धारा 370 के विरोध में अपने प्राणों की आहुति दे दी।प्रदेश उपाध्यक्ष ने डॉ मुखर्जी को दूरदर्शी शिक्षाविद,कुशल राजनेता,प्रशासक,विचारक एवं राष्ट्र निर्माता की संज्ञा देते हुए उनकी विभिन्न उपलब्धियों एवं योगदान की विस्तार से चर्चा की।बताया कि उन्ही के पद चिन्हों पर चलकर भाजपा विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बनी।कहा कि प्रधानमंत्री मोदी डॉ मुखर्जी के सपनों को साकार करने में जुटे हैं।सन्चालन जिला महामंत्री गुरूशरण लोधी ने किया।जिला अध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव ने सभी अतिथियों का स्वागत एवं आभार ज्ञापित किया।इस अवसर पर प्रदेश मंत्री रामचन्द्र कनौजिया,क्षेत्रीय मंत्री त्रयम्बक तिवारी,रचना श्रीवास्तव,शीलरत्न मिहिर,सन्दीप गुप्ता,अरविंद मौर्य, विजय आनन्द बाजपेई,प्रमोद तिवारी,सुशील जायसवाल,सीए अश्विनी श्रीवास्तव,डॉ अंजू चन्द्रा ,प्रशांत श्रीवास्तव ,रोहित सिंह सहित सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।