कानपुर देहात

झींझक मंडी समिति में जनवरी माह में बेची गई धान का जून महीने तक नहीं हुआ भुगतान लगातार किसान मंडी समिति का लगा रहे हैं चक्कर और केंद्र प्रभारी द्वारा प्रतिदिन उन्हें आज कल और एक सप्ताह कह कर वापस कर दिया जाता किसान रमाकांत पुत्र जोधा निवासी बचीत पुरवा ने बताया कि उसने 21 कुन्तल धान जनवरी माह में झींझक क्रय केंद्र में बेची थी लेकिन केंद्र प्रभारी मृदुला यादव की लापरवाही के चलते धान की फिटिंग नहीं हुई और उसका अंजाम यह हुआ कि अभी तक के प्रभारी के द्वारा भुगतान नहीं कराया गया किसान लगातार धान क्रय केंद्र का चक्कर लगा रहा है किसान के अनुसार उसने इसकी शिकायत डेरापुर उप जिलाधिकारी से भी की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई इन लापरवाह अधिकारियों के चलते छोटे किसानों को भारी समस्या का सामना करना पड़ता है किसान के अनुसार उसकी कोई सुनने वाला नहीं है और वह 2 से 5 तारीख के बीच मुख्यमंत्री कार्यालय अपनी फरियाद लेकर जाएगा क्योंकि किसान रमाकांत मंडी समिति लगभग 20 से 25 चक्कर लगा चुका है लेकिन केंद्र प्रभारी मृदुला यादव द्वारा धान का भुगतान करने की बात तो कही जा रही है लेकिन कब किया जाएगा यह साफ नहीं बताया जा रहा है किसान के अनुसार वह अब गंभीर परिस्थितियों से गुजर रहा है और उसको पैसे की बारी आवश्यकता है आवश्यकता के चलते वह अपने फसल के पैसे लेने के लिए दर-दर भटक रहा है