निष्पक्ष जन अवलोकन।
योगेश जायसवाल।
बाराबंकी। राज्यपाल उत्तर प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार व प्रो0 सीमा सिंह के मार्गदर्शन से उ0प्र0 राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज के क्षेत्रीय केन्द्र लखनऊ के अन्तर्गत आने वाले जिला-बाराबंकी के सिद्धौरा ब्लाक के ग्राम-टिकरिया को क्षेत्रीय केन्द्र द्वारा इस कार्यक्रम के लिए चुना गया है।

कार्यक्रम का उद्देश्य इस गाॅव की महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना, सशक्त करना आत्मनिर्भरता हेतु प्रशिक्षित करना व शिक्षा की ओर ले जाना है। समाज के लिए महिला का शिक्षित होना बहुत जरूरी है।

इसी क्रम में को राजश्री इण्टर कालेज टिकरिया में महिला जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में गाॅव की लगभग 65 महिलाओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए प्रतिभाग किया। महिलाओं में कार्यक्रम के प्रति एक अलग उत्साह देखा गया। विश्वविद्यालय की ओर से गाॅव में वृक्षारोपण करने के साथ मास्क व सूचना विवरणिका की प्रतियों का निःशुल्क वितरण किया गया।

डाॅ0 अल्का वर्मा ने कार्यक्रम के आयोजन व संचालन के साथ-साथ कार्यक्रम के उददेश्य एवं भावी योजनाओं के बारे में बताया। डाॅ0 वर्मा ने कहा जब तक महिलाओं में आत्मनिर्भरता की सोच नहीं होगी तब तक वे सरकारी योजनओं का लाभ नहीं ले सकतीं इस लिए स्वयं जागरूक बनने पर जोर दिया तथा बताया आगे भी ऐसे कार्यक्रम समय-समय पर आयोजित होते रहेंगे। अन्य लोगों ने भी कार्यक्रम से सम्बन्धित अपने-अपने विचार रखे। डाॅ0 रोहित मिश्र लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ ने स्वछता पर अपनी अहम जानकारी साझा की। जिला महिला चिकित्सालय, बाराबंकी से पूजा वर्मा, ने कोरोना महामारी से बचाव सकारात्मक सोच रखने के साथ कोरोना वैक्सिनेसन कराने पर जोर दिया तथा उसके फायदे भी गिनाए। ममता सिंह, अभ्या फाउण्डेशन, लखनऊ महिला अधिकारों कुरीतियों विवाह की सही आयु के बारे में जानकारी दी। डाॅ0 दिवाकर ने बताया कौन कौन सी सरकारी योजनाएॅ चल रही हैं। किस प्रकार हम सरकारी योजनाओं का लाभ ले सकते हैं।
शिव हर्ष सिंह, प्रबन्धक, ने महिला सशक्तीकरण पर विचार रखे। अन्त में संजय कुमार ने विश्वविद्यालय में संचालित कार्यक्रम व उसके उददेश्य की जानकारी दी।