अधिक से अधिक वृक्ष लगाये जाने एवं पर्यावरण को संरक्षित किए जाने की, की गयी अपील

निष्पक्ष जन अवलोकन।
 नितेश मिश्रा।
बाराबंकी। वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत जगह-जगह वृक्ष लगाये गये। जनपद बाराबंकी में कुल 44 लाख 61 हजार 800 के सापेक्ष 45 लाख 17 हजार 255 वृक्षारोपण किया गया। वृक्षारोपण जन आन्दोलन 2021 वन महोत्सव के तहत पीपल, सागौन, बरगद आदि पौधे रोपित किए गए। मुख्य अतिथि सांसद उपेन्द्र सिंह रावत ने  आईटीआई जहांगीराबाद महुआमउ बाराबंकी में वृक्षारोपण किया। मुख्य अतिथि ने कहा कि वृक्षों को लगाने के साथ उसका संरक्षण भी जरुरी है। उन्होने इसका सत्यापन कराये जाने पर बल दिया। उन्होने सभी से वृक्ष लगाये जाने, उसका संरक्षण पुत्रो की तरह करने हेतु प्रोत्साहित करते हुए कहा कि जो व्यक्ति पौधा लगाना चाहता हो। उन्होने कहा कि हमारे संस्कृति व प्रकृति का अनुपम तालमेल है। यहां  वृक्षो, पशुओं व पहाडों की पूजा होती है। वृक्षो को हम देवता के रुप में मानते हुए पूजते है।

 जनपद के नोडल अधिकारी सचिव/अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास विभाग उत्तर प्रदेश शासन श्री विकास गोठलवाल ने इस अवसर पर कहा कि वृक्ष का मनुष्यो से गहरा रिश्ता है। यह हमें प्राणवायु देती है। जलवायु में हो रहा परिवर्तन वृक्षो में कमी का संकेत है, जो हम सभी के लिये एक बड़ा खतरा है। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण में सभी की भागीदारी बढ़-चढ़ कर होनी चाहिये एवं इस संदेश को जन-जन तक पहुॅचाये जाने का कार्य किया जाना चाहिये। उन्होंने सभी विभागो को लक्ष्यपूर्ति के लिए पूरे मनोयोग से सांस्कृतिक व नैतिक कर्तव्य समझते हुए उसे पूरा करना चाहिए।  
मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि वृक्षारोपण के लिए जन अन्दोलन आजादी के बाद से ही शुरु हो चुका है। शासन व तंत्र इसे और दिशा देने का कार्य कर रहा है। उन्होने अधिक से अधिक पेड़ो को लगाये जाने के साथ पर्यावरण एवं अपने शरीर व आने वाले पीढ़ी के लिये उपयुक्त वातावरण तय किए जाने हेतु कार्य किए जाने पर बल दिया। उन्होने सभी से अपने जीवन के लिये एक-एक पौधा अवश्य ही लगाए जाने एवं इस महा अभियान में साक्षी बनने की अपेक्षा की।
इस कार्यक्रम में एसडीएम सदर अभय पाण्डेय, प्रभागीय वनाधिकारी डा0 एन0के0सिंह, प्रधानाचार्य आईटीआई दीपक यादव सहित अन्य प्रबुद्धजन, आदि उपस्थित रहे।