निष्पक्ष जन अवलोकन।
अजय रावत।
सिरौलीगौसपुर बाराबंकी।जिले के सुप्रसिद्ध तीर्थ स्थल कोटवाधाम की पानी टंकी के निर्माण को 7 वर्ष होने को है पानी टंकी से ग्रामवासियों व मेलार्थियों को गला सीजने को नही मिला पानी।
बताते चलें कि शासन ने कोटवाधाम मेलों में होने वाली लाखों की भीड़ के दृष्टिगत 2014/015 मे गांव के बाहर विद्युत उपकेंद्र कोटवाधाम के बगल पानी टंकी का निर्माण करवाया टंकी से कोटवाधाम व अमनियापुर गांव में पानी पंहुच के बिछवायी गयी पाइप लाइन बिल्कुल घटिया होने के कारण 2015/016मे पानी टंकी के ट्रायल के दौरान अधिकांश जगहों पर पाइप लाइन लीकेज हो गई। पानी टंकी निर्माण कराने वाली एजेंसी ने ऐन केन पानी टंकी को ग्राम पंचायत के सिपुर्द करके अपना पलडा झाड कर निकल गये ।
जिले के तीर्थ स्थल जंहा कि प्रतिदिन 50 हजार से अधिक लोगों का आना जाना रहता है पानी के लिए त्राहिमाम मची रहती है मजबूरी में लोगों को बोतल का पानी खरीद कर गला सीजना पडता है। करोड़ों रुपए खर्च कर ग्रामीणों को गला सीजने को पानी न मिले कितनी विडम्बना की बात है।
नव निर्वाचित ग्राम प्रधान वंदना दास ने पानी टंकी के बाबत रामनगर क्षेत्र के विधायक शरद अवस्थी को पत्र देकर पानी टंकी की पाइप लाइन मे डलवाये गये घटिया पाइपों की जांच करवा कर पाइप बदलवाने की मांग की है।ग्राम प्रधान श्री मती वंदना दास ने बताया है कि दो सप्ताह पूर्व रामनगर के विधायक जी से समस्या का निदान कराने के लिए पत्र दिया है जिन्होंने आश्वस्त किया है कि शीघ्र ही समस्या का समाधान करायेंगे।