इटावा। प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाओं की रीढ़ माने जाने वाली आशा कार्यकत्रि को ज्यादातर राज्यों में निश्चित वेतन नहीं मिलता। जिसके लिए वे लंबे समय से लड़ाई लड़ रही हैं। ऐसा ही मामला विकासखंड ताखा स्वास्थ्य केंद्र सरसई नावर से सामने आया है। जिसमें दर्जनभर आशाओं ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर बताया कि विगत10 वर्षों से विभाग उनकी सेवाओं का लाभ ले रहा है। मगर तनख्वाह के नाम पर कुछ भी नहीं दे रहा 10 साल से बिना तनख्वाह के काम करने वाली आशाओं की स्थिति आज मजदूरी करने की हो गई है आशाओं ने जिलाधिकारी इटावा श्रुति सिंह से मिलकर अपनी समस्या को लिखित दिया। जिलाधिकारी ने जांच के आदेश दे समस्या का निस्तारण करने की बात कही।