निष्पक्ष जन अवलोकन। अजय रावत। सिरौलीगौसपुर बाराबंकी। सरयू नदी के तटवर्तीय ग्राम तेलवारी मे कर रहे नदी कटान को बाढ खंण्ड के अभियंताओं ने कडी मशक्कत के बाद काबू कर लिया है। उपजिलाधिकारी ने सनांवा कहारनपुरवा गोबरहा गांवों में राजस्व कर्मियों के साथ बाढ की स्थिति का निरीक्षण किया।
बताते चलें कि ग्राम तेलवारी पर सरयू नदी ने दबाव बनाकर पांच छः दिनों से कटान लगा दिया था।बाढ खंण्ड के अभियंताओं ने रात दिन मेहनत करके कटान वाले गांवों में सैकड़ों ट्राली ईंट का खंण्डा गैवीयान प्लास्टिक की मोटी रस्सियों मे बोरियों को झांखड के साथ डलवा कर नदी का कटान रोक दिया है। किन्तु सरयू नदी की तीब्र धाराओं का दबाव सीधे तेलवारी गांव पर बना हुआ है।आगे क्या होगा भविष्य के गर्भ में सुरक्षित है।
सरयू नदी का जलस्तर स्थिर है किन्तु प्रतिदिन हो रही बारिश से अनुरक्षण कार्यों को करवाने मे दिक्कतें आने के बावजूद सैकड़ों मजदूरों के साथ सहायक अभियंता राकेश भास्कर अवर अभियंता अंकित सिंह धनंजय तिवारी राहुल नारायण घनश्याम बाजपेई आदि रात दिन मजदूरों के साथ कडी मशक्कत करके जगत पाल चौहान के घर के सामने से सुरेश सिंह के मकान के सामने तक सरयू नदी के लगे कटान मे प्लास्टिक की मोटी रस्सियों मे ईंट अदधा से भरी बोरियों को बंधवा कर झांखड के साथ नदी में डलवा कर नदी का कटान रोक लिया है।
सहायक अभियंता राकेश भास्कर ने बताया कि हमारे साथी अवर अभियंता सिफ्ट वाइज पूरे मनोयोग से अनुरक्षण कार्य करवाने मे जुटे हुए हैं।नदी का कटान पूर्ण रूप से रुक गया है। कटान वाले स्थल पर युद्वस्तर पर अनुरक्षण कार्य चल रहे हैं जब तक पूर्ण रूप से कटान स्थल को सुरक्षित नही कर लिया जायेगा तब तक अनुरक्षण कार्य चलें गे । उन्होंने ने कहा कि गनीमत है कि नदी के कटान मे गांव के किसी भी ग्रामीण का मकान नही कटा जगत पाल के घर के सामने का रास्ता कटा था जिसे देख जगतपाल अपने घर का कुछ मलवा तोड कर उठा लिया था ।