*लोकतंत्र सेनानियों को भाजपा ने किया सम्मानित।

निष्पक्ष जन अवलोकन।
नितेश मिश्रा।
बाराबंकी। विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा ने कहा कि आपातकाल भारतीय लोकतंत्र में कांग्रेसी कुशासन का काला दिन है।आपातकाल के दौरान लाखों बेगुनाह राष्ट्रवादियों को जेलों में ठूंस दिया गया जिनमे अटल बिहारी बाजपेयी,लाल कृष्ण आडवाणी,मोरारजी देसाई जैसे असंख्य नेता भी शामिल थे।साकेन्द्र प्रताप वर्मा आपातकाल की 46 वीं वर्षगांठ के अवसर पर शुक्रवार को आयोजित गोष्ठी में बतौर मुख्य वक्ता बोल रहे थे।उन्होने इसे भारतीय लोकतंत्र की जघन्य हत्या बताया।कहा कि आपातकाल की पृष्ठभूमि एवं कांग्रेसी हुकूमत के अत्याचारों के इतिहास को आने वाली पीढ़ियों को अवश्य पढ़ना चाहिए जिससे भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति करने की कोई हिम्मत न जुटा सके।बताया कि आपातकाल के दौरान जेलों में बन्द कई सेनानी इलाज के अभाव बलिदान हो गए।बताया कि मीडिया पर प्रतिबंध लगा दिया गया।हजारों पत्रकार गिरफ्तार हुए।जेलों में प्रताड़ना झेली,मगर कांग्रेसी हुकूमत के आगे कभी नही झुके।उन्होने आपातकाल के जुल्मों की कई दास्तां कार्यकर्ताओं से साझा की।प्रदेश मंत्री एवं जिला प्रभारी रामचन्द्र कनौजिया ने भाजपा को लोकतंत्र का सच्चा हितैषी बताते हुए लोकतंत्र सेनानियों को आभार ज्ञापित किया।जिला अध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव ने सभीअतिथियों का स्वागत किया। सन्चालन जिला महामंत्री शीलरत्न मिहिर ने किया।इस अवसर पर रचना श्रीवास्तव,गुरुशरण लोधी,विजय आनन्द बाजपेई,प्रमोद तिवारी,डॉ अवधेश वर्मा,विवेक तिवारी, संजीव वर्मा, अनुपम निगम,गिरिधारगोपाल सहित सभी मण्डल अध्यक्ष,सेक्टर प्रमुख /संयोजक एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

लोकतंत्र सेनानियों के किया सम्मान


बाराबंकी।आपातकाल के दौरान जेलों में बन्द रहे लोकतंत्र सेनानियों का भाजपाइयों ने सम्मान किया।कचहरी परिसर में आयोजित सम्मान समारोह में वरिष्ठ सेनानी स्वामी दयाल मौर्य,अजय सिंह गुरु जी,इंदु प्रकाश निगम,सुशील कुमार वर्मा को अंगवस्त्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष सन्तोष सिंह ,सन्दीप गुप्ता,अरविंद मौर्य,कुंज बिहारी गुप्ता,रोहित सिंह, संजय मिश्रा,सर्वेश मौर्य,नन्द किशोर यादव,प्रदीप गुप्ता,शैलेन्द्र मौर्य मौजूद रहे।