इटावा। सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में कोविड अस्पताल में 24 अक्टूबर को भर्ती हुई महिला ने करवा चौथ की रात 9:00 बजे अस्पताल की तीसरी मंजिल से छलांग लगाकर की आत्महत्या। न्यूरो की बीमारी से ग्रसित महिला को इलाज के दौरान कोरोना संक्रमित पाए के बाद कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया था। सुशीला देवी पत्नी होरी लाल निवासी अजीत गंज मैनपुरी की रहने वाली थी महिला। परिजनों के आने के बाद थाना पुलिस ने पंचनामा भर कर शव को पोस्टमार्टम के लिये भेजा। परिजनों ने आत्महत्या का कारण अस्पताल स्टाफ की लापरवाही बताई।

वहीं ओमवीर सिंह अपर पुलिस अधीक्षक इटावा ने बताया कि महिला दिमाग में ट्यूमर होने की शिकायत को लेकर सफाई में भर्ती हुई थी। मगर कोरोना पॉजिटिव होने के कारण उसको आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया । आत्महत्या करने का जो भी कारण होगा ।उसकी जांच पुलिस द्वारा की जा रही है ।जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी।