निष्पक्ष जन अवलोकन । नारायण शुक्ला।
हैलट में भर्ती ऑप्टिक न्यूराइटिस मरीज के इलाज के साथ डॉक्टरों ने उस पर शोध भी शुरू कर दिया है। आप्टिक न्यूराइटिस मरीज आशीष (30) को 15 दिन पहले हैलट में भर्ती किया गया था। 
कानपुर के हैलट अस्पताल में ब्लैक फंगस से ऑप्टिक न्यूराइटिस का पहला मरीज मिला है। अस्पताल के चिकित्सकों का दावा है कि यह देशभर में पहला केस है। इसमें मरीज की आंखों की नसों में सूजन आ जाती है। नसों में खराबी आने से मरीज की आंखों की रोशनी चली जाती है।
हैलट में भर्ती मरीज के इलाज के साथ डॉक्टरों ने उस पर शोध भी शुरू कर दिया है। आप्टिक न्यूराइटिस मरीज आशीष (30) को 15 दिन पहले हैलट में भर्ती किया गया था। नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डॉ. परवेज खान ने बताया कि आर्टरी ब्लॉकेज के तो कई मरीज आए हैं।
लेकिन, ऑप्टिक न्यूराइटिस का यह पहला मरीज है। फिलहाल, उसकी आंखों की रोशनी प्रभावित है। इस मरीज ने ब्लैक फंगस के एक नए प्रभाव को उजागर किया है कि फंगल संक्रमण से नसों में सूजन आ जाती है। इस पर विभाग के डॉक्टरों की टीम ने शोध शुरू कर दिया है।
उन्होंने दावा किया कि अभी तक देशभर में ऑप्टिक न्यूराइटिस का कोई भी मरीज नहीं मिला है। शोध पूरा होने के बाद इसे अंतरराष्ट्रीय जर्नल में भेजा जाएगा। बताया कि ब्लैक फंगस के जितने मामले आ रहे हैं, उन पर भी अध्ययन किया जा रहा है