निष्पक्ष जन अवलोकन ।

नारायण शुक्ला।
कानपुर। संत समाज गंगा दशहरा पर मां गंगा को चुनरी अर्पित करेगा। बिठूर स्थित ब्रह्मावर्त घाट समेत शहर के विभिन्न घाटों पर पूजा-अर्चना के साथ चुनरी चढ़ाई जाएगी। सिद्धनाथ घाट पर महाभिषेक होगा। शाम को महायज्ञ में आहुतियां दी जाएंगी।
गंगा सेवा समिति व अखिल भारतीय मठ मंदिर समन्वय समिति के संयुक्त प्रयास से इस वर्ष 20 जनवरी 2021 रविवार को मां गंगा महोत्सव कोविड संक्रमण के चलते घाट-घाट तक ही सीमित रहेगा। संस्थापक बाल योगी अरुण चैतन्य पुरी ने बताया कि हर वर्ष गंगा महोत्सव पर बिठूर स्थित ब्रह्मावर्त घाट से महाराजपुर स्थित ड्योढ़ी घाट तक गंगा मैया को चुनरी अर्पित की जाती थी। इस बार बिठूर से शहर के घाटों में ही सुबह 9 बजे पूजा अर्चना के बाद चुनरी अर्पित की जाएगी
जाजमऊ स्थित सिद्धनाथ घाट में शाम 4 बजे मां गंगा का दूध, घी, शहद, शक्कर, पचामृत, इत्र, गुलाल सिंदूर से महाभिषेक किया जाएगा। शाम को महायज्ञ, महाआरती लंगर प्रसाद कार्यक्रम होंगे। पनकी हनुमान मंदिर के महंत महामंडलेश्वर श्रीकृष्णदास, विनय स्वरूपनंद सरस्वती, उदितानंद ब्रह्मचारी, स्वामी अरुण भारती, आशुतोष गिरि, मनोज कुमार शुक्ला, संजय त्रिवेदी, विजय चौरसिया, प्रमोद मैहर, पवन दुबे आदि मौजूद रहे।