निष्पक्ष जन अवलोकन संवाददाता कानपुर

कफन से लिपटे शव देख फफक पड़े परिजन।

 

कानपुर हादसा: तीन सगे भाइयों की मौत, मां को महंगी साड़ी देने का किया था वादा, कफन से लिपटे शव देख फफक पड़े परिजन

 

 

कानपुर के सचेंडी के किसान नगर में मंगलवार रात को डबल डेकर बस और टेंपो की टक्कर में हुई 17 लोगों की मौत से लालेपुर और ईश्वरीगंज गांव में मातम पसर गया। चारों तरफ चीत्कार मची रही। दरअसल, मरने वालों में 12 मजदूर लालेपुर और पांच ईश्वरीगंज के रहने वाले हैं। एक ही परिवार के तीन भाइयों की मौत ने सभी झकझोर दिया। ग्रामीणों के मुताबिक सभी लोग हर दिन एक साथ काम पर जाते थे और एक साथ लौटते थे। ड्यूटी का समय एक होने की वजह से सभी एक ही गाड़ी से आते-जाते थे। मंगलवार को सभी लोग करीब साढ़े सात बजे टेंपो से फैक्टरी के लिए रवाना हुए। कुछ ही देर बाद हादसा हो गया। हादसे में लालेपुर गांव निवासी तीन सगे भाइयों शिवभजन (22), राम मिलन (24) और लवलेश (20) की मौत हुई है। बेटों का कफन से लिपटा शव देख परिजन बदहवास हो गए