सिरौलीगौसपुर। इलाज के अभाव में मासूम की मौत की घटना के मामले में उप जिलाधिकारी ने चिकित्सालय एवं पीड़ित के गांव पहुंचकर मामले की जांच करते हुए बयान दर्ज किया है।
सिरौलीगौसपुर के उपजिलाधिकारी सुरेंद्र पाल विश्वकर्मा मासूम की मौत के मामले में करीब दो बजे संयुक्त चिकित्सालय पहुंचे उन्होंने वहां पर सीसी कैमरा तथा चिकित्सकों की उपस्थिति रजिस्टर का निरीक्षण किया । इस दौरान उन्होंने सीएमएस आरबी राम तथा चिकित्सालय के समीप दुकानदारों से मामले की जानकारी ली। इसके बाद वह पीड़ित परिवार संदीप शुक्ला के गांव तासीपुर पहुंचे उन्होंने वहां पर पीड़ित के बयान दर्ज किए तथा ग्राम प्रधान अखिलेश गुप्ता पीड़ित परिवार एवं गांव वालों के लिखित रूप से बयान लिया। रविवार को तासीपुर के संदीप शुक्ला की 6 माह की मासूम नित्या तख्त पर से गिर गई थी इसके उसके सर में गंभीर चोट लग गई थी । पारिवारिजन उसे लेकर सीधे संयुक्त चिकित्सालय सिरौलीगौसपुर पहुंचे जहां पर कोई स्टाफ मौजूद नहीं था इमरजेंसी में तैनात चिकित्सक भी नहीं मिले। करीब दो घंटे तक पीड़ित परिवार चिकित्सालय में ही परेशान रहा इसी दौरान उसके पुत्री की मौत हो गई पारिवारिजन मौत के बाद हंगामा शुरू कर दिया जिससे कारण मौके पर काफी भीड़ इकट्ठा हो गई मौके पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक दयाशंकर सिंह ने परिवार को समझाते हुए उनसे एक तहरीर ले लिया और कहा कि तुम लोग घर जाओ इस तहरीर को आगे जांच के लिए भेज दिया जाएगा ।सोमवार को जांच के मामले में उप जिलाधिकारी सुरेंद्र पाल विश्वकर्मा ने बताया की चिकित्सालय एवं पीड़ित के गांव जाकर जांच की गई है जांच में निष्कर्ष के बारे में उन्होंने बताया कि अभी कुछ कहा नहीं जा सकता।