बाराबंकी(योगेश जायसवाल)। शैलेश सिंह पुत्र अकबाल सिंह निवासी ग्राम इस्माइलपुर थाना नवाबगंज जनपद गोण्डा द्वारा थाना हैदरगढ़ पर सूचना दी गयी कि ट्रक नम्बर-UP42BT6233 को ड्राइबर जीतू प्रसाद गिट्टी लादने ले जा रहा था कि रास्ते में संगम ढाबा पर रात्रि में नींद लगने की वजह से ट्रक खड़ी करके सो गया था। इस दौरान कोई अज्ञात व्यक्ति ट्रक, नकद रूपये और मोबाइल लूट कर भाग गये, इस सम्बन्ध में थाना हैदरगढ़ पर मु0अ0सं0-106/2021 धारा 392 भादवि पंजीकृत किया गया। इसी प्रकार दूसरी घटना विजय कुमार यादव पुत्र राम स्वरूप यादव निवासी ग्राम सियरापार थाना कोतवाली जनपद बस्ती ने थाना हैदरगढ़ पर सूचना दिया कि उसकी ट्रक सख्या-UP51AT6536 को ड्राइवर सतीश कुमार वर्मा पोखरा चीनी मिल थाना हैदरगढ़ के पास खड़ी किया था तभी 04 अज्ञात लोगों ने ट्रक व उसमें रखी नकदी लूट लिये और एक व्यक्ति ट्रक लेकर फरार हो गया। अन्य 03 लोगों ने मेरे ड्राइवर व क्लीनर को ट्रक से उतार कर प्राइवेट गाड़ी में घुमाते हुए कनवा नहर के पास उतार कर चले गये। इस सूचना पर थाना हैदरगढ़ पर मु0अ0सं0-122/21 धारा 392 भादवि पंजीकृत किया गया।
उक्त दोनों घटनाओं का संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक बाराबंकी यमुना प्रसाद द्वारा लूट की सनसनीखेज घटना के अनावरण करने हेतु अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी मनोज कुमार पाण्डेय के निर्देशन में क्षेत्राधिकारी हैदरगढ़ नवीन सिंह के नेतृत्व में 03 टीमों का गठन किया गया। जिसमें सर्विलांस टीम, स्वाट टीम एवं थाना हैदरगढ़ पुलिस टीम द्वारा घटना के सफल अनावरण करने हेतु अथक प्रयास किया जा रहा था। मैनुअल इंटेलीजेंस एवं सर्विलांस के आधार पर पुलिस टीमों को महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुई और शातिर ट्रक लुटेरों के गिरोह के 03 सक्रिय सदस्यों समीर उर्फ ननकऊ पुत्र इद्रीस निवासी असोव थाना सांगीपुर जनपद प्रतापगढ़, मो0 अकलीम अली पुत्र नईम निवासी उद्वरनपुर थाना लालगंज अझारा जनपद प्रतापगढ़, उदय वर्मा पुत्र गया प्रसाद वर्मा निवासी पूरे पौलहा मजरे मौराम बोझी थाना लालगंज अझारा जनपद प्रतापगढ़ को गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तगण की निशादेही पर लूटे गये दोनों ट्रक सहित घटना कारित करने में प्रयुक्त वाहन बरामद किया गया।
अभियुक्तगण का एक संगठित गिरोह है। इनके द्वारा योजनाबद्ध तरीके से ट्रक लूट की घटना कारित की जाती थी। अभियुक्तगण ने पूछताछ पर बताया कि इनके द्वारा ढाबे के पास खड़े ट्रकों को निशाना बनाया जाता था और अपने साथ लूट की घटना करने के लिए एक ट्रक व स्विफ्ट डिजायर कार लेकर चलते थे। ट्रकों को सड़क के किनारे रेकी करने के उपरान्त ट्रक को चिन्हित करते थे और लूट करने के लिए ट्रक के एक तरफ से अपने ट्रक को खड़ा करके आड़ कर देते थे और ट्रक के पीछे स्विफ्ट डिजायर कार खड़ी कर देते थे तत्पश्चात ट्रक में दोनों तरफ से चढ़कर ड्राइवर व क्लीनर को बंधक बना लेते थे। अभियुक्तगण में सभी लोग ड्राइवर है जिनको ट्रक की सारी जानकारी है। ट्रक को कुछ दूर ले जाने के बाद सुनसान स्थान पर ड्राइवर व क्लीनर को चार पहिया वाहन में बैठा देते थे और ट्रक को अकील लेकर चला जाता था। चार पहिया वाहन में बैठे ड्राइवर व क्लीनर को वहीं आस-पास ही घुमाते रहते थे काफी समय हो जाने पर एवं लूटे गये ट्रक को काफी दूर निकल जाने के इत्मीनान होने पर ड्राइवर और क्लीनर को उसी क्षेत्र में सुनसान स्थान पर छोड़ कर भाग जाते थे। अभियुक्तगण द्वारा जनपद अमेठी, बस्ती, सुलतानपुर, कानपुर, प्रयागराज व कौशाम्बी आदि जनपदों में लूट की घटना कारित करते थे। लूटे गये ट्रक को उत्तराखंड के सितागंज ले जाकर इंजन नं0 तथा चेचिस नं0 की कूट रचना करके अन्य राज्य के नम्बर पर ट्रांसफर करा देते थे जिसके पश्चात अनापत्ति(NOC) कराकर उत्तराखण्ड राज्य का नया नम्बर आवांटित करा लेते थे तत्पश्चात ट्रक को बेच देते थे।
घटना का अनावरण करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक ओमवीर सिंह चौहान थाना हैदरगढ़, निरीक्षक अक्षय कुमार प्रभारी सर्विलांस टीम, अतिरिक्त निरीक्षक धीरज कुमार सिंह, थानाध्यक्ष रितेश पाण्डेय थाना कोठी जनपद बाराबंकी ,उ0नि0 विवेक कुमार सिंह प्रभारी स्वाट टीम, व0उ0नि0 अभिमन्यु शुक्ला थाना, उ0नि0 अमर बहादुर, उ0नि0 मुश्ताक अहमद, का0 नितिन चौधरी, आदि रहे।