दुमका
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने झारखंड सरकार पर संथाल परगना में बेटियों के साथ बढ़ते सामूहिक दुष्कर्म और हत्या की घटनाओं को रोकने में विफल होने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से अविलंब इस्तीफे की मांग की है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सुश्री मिस्फिका ने शुक्रवार को कहा कि संताल परगना के साहिबगंज और दुमका जिले में नाबालिग बच्चियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद नृशंस हत्या की घटनाओं ने समाज को झकझोर कर रख दिया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में राज्य की गठबंधन सरकार राज्य के विभिन्न जिलों में बच्चियों के साथ हो रही विभत्स घटनाओं को रोकने में विफल साबित हुई है। इसलिए नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए है।
भाजपा प्रवक्ता ने दुमका जिले में ट्यूशन पढ़ने गई एक नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना को शर्मनाक और विभत्स करार देते हुए कहा कि साहेबगंज की घटना के तुरंत बाद दुमका में सामूहिक दुष्कर्म के बाद पांचवीं की छात्रा की हत्या की घटनाओं से स्पष्ट हो गया है कि वर्तमान सरकार की शासन व्यवस्था में संताल परगना में बेटियां सुरक्षित नहीं है। ऐसा लगता है संथाल परगना बच्चियों के लिए काल बन गया है। सुश्री मिस्फिका ने कहा कि राज्य में अपराधियो का मनोबल पूरा बढ़ा है। उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार राज्य की बेटियो की आबरू की सुरक्षा मुहैया कराने में विफल साबित हुई है इसलिए नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।