सिरौलीगौसपुर बाराबंकी। जिले के सुप्रसिद्ध तीर्थ स्थल कोटवाधाम वैश्विक महामारी की चपेट में अब तक 5 लोगों की जान जा चुकी है जबकि आधा दर्जन लोग बुखार से पीड़ित बताए जा रहे हैं।
बताते चलें कि जिले के सुप्रसिद्ध तीर्थ स्थल कोटवाधाम मैं एक महिला समेत 5 लोगों की मृत्यु से पूरा कोटवाधाम काफी सहमा हुआ है गांव के ग्रामीण लगातार स्थानीय प्रशासन से कोटवाधाम ग्राम पंचायत को पूर्ण रूप से सेनेट्राइज कराने की मांग कर रहे हैं किंतु स्थानीय प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे पा रहा है। उप जिला अधिकारी सिरौलीगौसपुर सुरेंद्र पाल विश्वकर्मा से गत दिवस पूर्व सदस्य जिला पंचायत महंत नीलेंद्र बक्श दास नीरज भइया ने दूरभाष पर वार्ता करके कोटवाधाम अमनियापुर गांव को पूर्ण रूप से सेनेट्राइज कराने की वार्ता की थी। उप जिलाधिकारी के निर्देश पर टाउन एरिया टिकैतनगर से 2 कर्मचारी आए और बड़े बाबा के मंदिर से बसंता फूफू के मंदिर तक तथा राममिलन पांडे इम्तियाज राम नारायण गुप्ता स्वर्गीय घनश्याम पांडे तथा अस्पताल के सामने दो तीन घरों को सेनेट्राइज किया। इस वैश्विक महामारी से कोटवाधाम अमनियापुर मदारपुर अद्रा इत्यादि गांव जहां पर लोगों की मृत्यु हुई है उन गली मोहल्लों को पूरी तरह से सेनेट्राइज कराकर ही संक्रमण पर काबू पाया जा सकता है। कोटवाधाम में लोग इतना ज्यादा सरहमे हुए हैं 3 दिनों से कोटवाधाम चौराहे से लेकर जगजीवन दास साहब बड़े बाबा के मंदिर तक समस्त दुकाने बंद हैं। जागरूक ग्रामीण घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं और कोटवाधाम में कर्फ्यू लागडाउन जैसे हालात हैं।

14 ग्रामीणों को लगा कोविड 19 का टीका

कोटवाधाम बाराबंकी। नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोटवाधाम मे श्रीमती उर्मिला मौर्य एएनएम आशा संगिनी वीरमती ने 14 ग्रामीणों को कोविड बैक्शीन का टीका करण किया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दरियाबाद से सम्बद्व नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोटवाधाम में 14 लोगों को कोविड-19 का टीका श्रीमती उर्मिला मौर्या व आशा संगिनी वीरमति द्वारा लगाया गया है।