बाराबंकी(योगेश जायसवाल)। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व प्रख्यात स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हेमवती नन्दन बहुगुणा जी का जन्मोत्सव अखिल भारतीय हेमवती नन्दन बहुगुणा स्मृति समिति बाराबंकी द्वारा जिला कार्यालय मोहल्ला कानून गोयान पर माल्यार्पण कर बड़ी धूमधाम से मनाया गया।
बहुगुणा जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए जिलाध्यक्ष मनोज कुरील ने कहा बहुगुणा जी का जन्म 25 अप्रैल 1919 को उत्तराखण्ड के पौड़ी जिले के बुधाणी गांव में हुआ था पढ़ाई के दौरान भगत सिंह से प्रेरित होकर स्वतंत्रता संग्राम में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेना प्रारम्भ किया तो बहुगुणा जी की गतिविधियों से परेशान हेाकर अंग्रेजी शासन ने बहुगुणा जी पर जिन्दा व मुर्दा पकड़वाने पर पांच हजार रूपये का ईनाम घोषित किया।
मनोज ने कहा कि बहुगुणा जी यहीं नही थमे देश की आजादी के पश्चात सकारात्मक सोच और दृढ़ संकल्प के साथ उन्होंने राजनीति के क्षेत्र में भी उदाहरण पेश किया। मुख्यमंत्री बनने के पश्चात् पिछड़ों, दलितों, शोषितों, मजदूरों व किसानों के लिए अनेकों कार्य किये।
इस अवसर पर रक्षक कुरील, धीरज कुरील, रोहित द्विवेदी, सुभाष भास्कर, कुलदीप कुरील, अशफाक अली उर्फ गुड्डू प्रमुख रूप से उपस्थित रहें।