देवां शरीफ बाराबंकी (सहीरअहमद)। सूफी संत हाजी वारिस अली शाह के आस्ताने आलिया पर देवां शरीफ में 10 अप्रैल से 13 अप्रैल को हर साल चैत्र का मेला होता है। 10 को सरकार वारिस पाक का कुल शरीफ व 11 व 12 तारीख को हाजी सूफी संत वारिस अली शाह का कुल शरीफ बडी़ धूमधाम से मनाया जाता है। 12 तारीख को हाजी वारिस अली शाह के आस्ताने आलिया से एहराम पोस चादर व हाजी वारिस अली शाह के पिता सैय्यद कुर्बान अली शाह के आस्ताने आलिया पर एहराम पोस चादर पेस की जाती है। बड़ी संख्या में फकीर एहराम पोस हाजी वारिस अली शाह के आस्ताने आलिया पर फूल चादर पेश करने के बाद कुल शरीफ में सिरकत करने वाले एहराम पोसो को आस्ताना आलिया कि तरफ से एहराम व तबर्रूख किया जाता है। आस्ताना मैनेजर सद्दू मियां एहराम तबर्रूख नजराना देकर 13 अप्रैल को बाबा लोगों को करते हैं रूकसत। आस्ताने आलिया पर बाहर से आने वाले सभी जायरीन लंगर व तबर्रूख बांटा जाता है।