बाराबंकी(नितेश मिश्रा)। पिछले दिनों थाना मसौली क्षेत्रान्तर्गत रफीनगर रेलवे लाइन पर अपनी लड़की की लाश मिलने की सूचना लाल बहादुर पुत्र गनेशी निवासी कोटवा थाना मसौली द्वारा पुलिस को दी गयी थी जिसके क्रम में थाना मसौली पर मुकदमा पंजीकृत किया गया था ।

पुलिस अधीक्षक बाराबंकी यमुना प्रसाद द्वारा घटना का अनावरण करने हेतु अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी डॉ0 अवधेश सिंह के निर्देशन व क्षेत्राधिकारी रामनगर दिनेश कुमार दूबे के पर्यवेक्षण में थाना मसौली की 02 पुलिस टीमों का गठन किया गया

जांच के क्रम में मैनुअल इंटेलीजेंस के आधार पर प्रभारी निरीक्षक मसौली विजेन्द्र शर्मा द्वारा अथक प्रयास करते हुए विभिन्न साक्ष्य एकत्रित कर उनके आधार पर घटना का सफल अनावरण करते हुए घटना में संलिप्त अभियुक्त राजकुमार उर्फ कोमल पुत्र मानिकचन्द्र निवासी चन्दनपुरवा थाना सफदरगंज जनपद बाराबंकी को चौपला हाईवे, सागर इंस्टीट्यूट के पास से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस अधीक्षक ने जानकारी देते हुए बताया कि अभियुक्त राजकुमार उर्फ कोमल ने पूंछताछ पर बताया कि उसकी बहन की शादी ग्राम कोटवा थाना मसौली में हुई थी जहाँ अक्सर उसका आना-जाना बहन के ग्राम कोटवा होता था और इस दौरान उसका संबंध लगभग 04 वर्षों से बहन की ननद से हो गया था और वह उससे शादी करना चाहता था।

जब इसकी भनक अभियुक्त के जीजा लालजी को हो गयी तो उनदोनो के मध्य कई बार कहा सुनी हुई जिसके कारण अभियुक्त के जीजा ने उसके घर आना जाना छोड़ दिया।

हत्या अभियुक्त ने बताया कि युवती की शादी 11 दिसम्बर-2020 में थाना सफदरगंज क्षेत्रान्तर्गत तय हो गयी जिसको लेकर उसने कई बार उससे भागने के लिए कहा लेकिन वह तैयार नही हुई और उसकी शादी हो गयी जिस कारण शादी के अगले दिन उसने आत्महत्या करने का प्रयास किया था, जिसके बाद युवती ने उसे फोन कर समझाया था और इसी दौरान अभियुक्त ने युवती से बात करने के लिए एक छोटा मोबाइल सिम सहित खरीदकर दिया था।

इसी क्रम में पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि हत्याभियुक्त ने पूछताछ में स्पष्ट किया कि इसी नवरात्रि उस युवती का गौना तय हो गया था जिसको लेकर अभियुक्त कोमल बड़ा परेशान था और कई बार अपने साथ भाग चलने के लिए कहा लेकिन युवती ने मना कर दिया तब उसने सोचा कि अगर वो उसकी नही हो सकती तो किसी की नही होगी।

इसके बाद अभियुक्त ने एक योजना बनायी जिसके तहत विगत मंगलवार को मसौली बाजार से एक चाकू खरीदा और 04.04.2021 की रात्रि बीयर का सेवन किया और अपनी बहन की ननद को अपने पूर्व में मिलने वाले स्थान रफीनगर रेलवे हाल्ट के पास बुलाया और अपने साथ चलने के लिए कहा तो उसने साथ चलने के लिए मना कर दिया जिस पर उसे बहुत गुस्सा आया और उसने बातों-बातों में पीछे से गर्दन पर चाकू से वार कर दिया जिससे युवती भागने लगी तो पटरियों के बीच में गिर गयी उसके बाद अभियुक्त ने उसका गला काट दिया। मरने का इत्मीनान करने के बाद कुछ लोगों के आने की आहट होने पर मौके से उसका मोबाइल लेकर भाग गया और उसके बाद चाकू को नहर पुलिया आईटीआई स्कूल सफदरगंज के पास झाड़ियों में फेंक दिया ।