कानपुर देहात भोंगनीपुर तहसील क्षेत्र के ब्लाक अमरौधा गाव अजय गुप्ता कोटेदार हर कार्ड पर एक किलो राशन कम देना व पैसे लेना लगातार ऐसी शिकायत ग्रामीणों द्वारा आई आखिर क्या वजह है खाद्य विभाग चुप्पी साधे बैठा है क्यों ग्रामीणों की आवाज प्रशासन को सुनाई नही दे रही है ग्रामीणों का कहना है कि कोटेदार हर महीने अंगूठे लगवाने के बाद राशन वितरण करता है जैसे एक कार्ड में एक किलो राशन कम देता है और लेकिन कोटेदार मनमानी करने के बाज नहीं आ रहे हैं ऐसी क्या वजह है कि कोटेदार के खिलाफ प्रशासन कार्रवाही करने से नाकाम साबित हो रहा है जबकि नियम यह कहता है कि अंगूठा लगाने के बाद तुरंत कोटेदार द्वारा गल्ला दिया जाये इसकी वजह है कि अंगूठा लगवाने से मशीन द्वारा 70 वितरण तहसील प्रशासन को दिख दिया जाता है जबकि अभी ग्रामीणों को गल्ला नही दिया गया लेकिन मशीन द्वारा नेट पर वितरण पहले से ही है गल्ला पूरा न देने पर गाव में रोष व्याप्त है*अधिकारियों की लापरवाही के चलते कार्ड धारकों को मिल रहा है मानक से कम राशन*
कानपुर देहात भोंगनीपुर तहसील क्षेत्र के ब्लाक अमरौधा गाव अजय गुप्ता कोटेदार हर कार्ड पर एक किलो राशन कम देना व पैसे लेना लगातार ऐसी शिकायत ग्रामीणों द्वारा आई आखिर क्या वजह है खाद्य विभाग चुप्पी साधे बैठा है क्यों ग्रामीणों की आवाज प्रशासन को सुनाई नही दे रही है ग्रामीणों का कहना है कि कोटेदार हर महीने अंगूठे लगवाने के बाद राशन वितरण करता है जैसे एक कार्ड में एक किलो राशन कम देता है और लेकिन कोटेदार मनमानी करने के बाज नहीं आ रहे हैं ऐसी क्या वजह है कि कोटेदार के खिलाफ प्रशासन कार्रवाही करने से नाकाम साबित हो रहा है जबकि नियम यह कहता है कि अंगूठा लगाने के बाद तुरंत कोटेदार द्वारा गल्ला दिया जाये इसकी वजह है कि अंगूठा लगवाने से मशीन द्वारा 70 वितरण तहसील प्रशासन को दिख दिया जाता है जबकि अभी ग्रामीणों को गल्ला नही दिया गया लेकिन मशीन द्वारा नेट पर वितरण पहले से ही है गल्ला पूरा न देने पर गाव में रोष व्याप्त है