औरैया (दीपक कुमार पाण्डेय) बिना मुआवाजा दिये ओवरब्रिज की पैमाइस करने पहुँचे अधिकारियों का किसानों ने किया विरोध।

 

कंचौसी सूखमपुर रेलवे क्रासिंग संख्या छह पर जबरन खेत की पैमाइस करने पुलिस बल के साथ पहुंचे डीडीएफसी के अधिकारी लक्ष्मी शुक्ला लेखपाल पवन कुमार आदि को किसान राम प्रकाश, अमर सिंह, रमाकांत, संजू आदि ने बिना किसी सूचना मुआवजा भुगतान व आड़ा तिरछा ओवरब्रिज बनाने का विरोध करते हुये पैमाइस को रोक दिया। जिसमें चार गांव नौगवा, ढिकियापुर, घसा का पुरवा, आदि के सैकड़ो किसान सीधा नहर की तरह ओवरब्रिज बनाने की मांग पहले से कर रहे है।इनमे अधिकतर किसान डीडीएफसी रेल ट्रेक से प्रभावित किसान है और उनही की मांग पर चार गांवो के हजारो लोगो की सुविधा के लिए सबकी सहमति से ब्रज बनाया जाना है जिससे सबको आने जाने मे बराबर दूरी का फासला रहे।ओवरब्रिज मुख्य रोड पर उतारा जाए लेकिन प्रस्तावित पुल सुखमपुर गांव के लिए बनता दिखाई दे रहा है जब कि सरकारी रास्ता छोड कर छोटे किसानो की उपजाऊ जमीन का अधिक भाग नौगवा गांव का है इससे उनको दोनो तरफ से हानि हो रही है।लेकिन परियोजना अधिकारी चुपके से जमीन पैमाइस कर यू आकार के पुल बनाने का प्रयास कर रहे जिसका किसान पहले से विरोध करते हुये अधिकारियो को पत्र देकर मौके पर बुलाने की मांग कर चुके है ।लेखपाल व डीडीएफसी के अधिकारियो ने शीघ्र वरिष्ठ आधिकारियो को मौके पर बुलाने का भरोसा दिया है।किसानो का कहना है कि उनकी जमीन का पहले का भुगतान हो और ओवरब्रिज का नक्सा बदले बिना अपनी जमीन किसी कीमत पर नही देगे ।