औरैया (दीपक कुमार पाण्डेय) पांच साल बीते नही बदली पुरवा महिपाल की तस्वीर।

 

 

 

सहार ब्लॉक के नोगवा ग्राम पंचायत के मजरा पुरवा महिपाल में विकास कार्यो को ग्रहण सा लगा है। पांच साल बाद ग्राम प्रधान तो बदल जाते है लेकिन पुरवा महिपाल की बदरंग तस्वीर नहीं बदलती। गांव में नरक जैसे हालात है।पुरवा महिपाल की अधिकांश गलियां कीचड़ से पटी पड़ी हैं। नाली विहीन टूटे खडंजों पर हर मौसम में कीचड़ और जल भराव की स्थिति बनी रहती है। गांव में चारों तरफ गंदगी फैली होने से ग्रामीण कई रोगों से पीड़ित हो रहे हैं। नालियां कई वर्षों से चोक पड़ी है।सफाई कर्मी का कोई पता नहीं है।सड़क पर नालियों का गंदा पानी भरा रहता है।सड़क पूरी तरह से उखड़ चुकी है।पुरवा महिपाल से दिबियापुर को जोड़ने वाली कलेक्ट्री रोड बनवाने के लिए ग्रामीणों ने कई प्रयास किए लेकिन किसी अधिकारी ने कोई सुध नही ली।पुरवा महिपाल के ग्रामीणों को सरकार की योजनाओं का लाभ भी नहीं मिल रहा है। ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुये कहा गांव के विकास कार्यो में फूटी कौड़ी भी नहीं लगाई जा रही है। गांव में विकास कार्य न होने से ग्रामीणों को कई असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण राजूकुमार,अबलाख आशाराम होरीलाल आदि ने जिला अधिकारी से गांव मे विकास कार्य कराये जाने की मांग की है।