सिरौलीगौसपुर ।
क्षेत्र में स्थित सीतादेवी महाविद्यालय पारिजातधाम बरौलिया द्वारा आयोजित स्वयंसेवक कैंप के आज सातवें और अंतिम दिन चयनित ग्राम कोटवाधाम में स्वयंसेवकों ने सुबह से ही वृहद स्वच्छता अभियान और मुख्य अतिथि के स्वागत की तैयारी में जुटे हुए दिखे महाविद्यालय के संरक्षक अभिनव शुक्ला आज अंतिम दिन कैंप में पहुंच कर ध्वजारोहण किया और राष्ट्रगान करते हुए कार्यक्रम की शुरुआत की सबसे पहले स्वयंसेवकों ने कैंप परिसर में मनमोहक रंगोली बनाई व समस्त छात्र छात्राओं को रोली चंदन लगाकर आरती उतारकर स्वागत किया ।मुख्य अतिथि के रूप में आए संरक्षक अभिनव शुक्ला ने सात दिन तक स्वयंसेवकों द्वारा क्षेत्र में जो साफ सफाई व जागरूकता का कार्य किया उसकी जमकर तारीफ करते हुए अपने विद्यालय के छात्रों का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि कैंप में हिस्सा लेने वाले छात्र छात्राओं को बधाई दी जो सात दिन तक जिले के सुप्रसिद्ध तीर्थ स्थल कोटवाधाम में स्वयंसेवक के रूप में गुजारा और इस धार्मिक स्थल की साफ-सफाई कर पुण्य का काम किया है। उन्होंने कैम्प हिस्सा रहे छात्रों को सम्मानित भी किया और प्रवक्ता प्रत्यूष कुमार व रमाकांत को शील्ड देते हुए सम्मानित किया और कहा की आप दोनों ने बहुत मेहनत कर कैंप को अच्छे से देखभाल कर छात्रों को बहुत कुछ सिखाया है। अंतिम दिन कैंप का हिस्सा रहे कवि प्रेम दास में बच्चों को अवधि में कविता सुनाकर उनको जागरूक और शिक्षा के प्रति उनका ध्यान आकर्षित करने का प्रयास किया।
विद्यालय में पढ़ रहे छात्र संदीप व सन्तोष द्वारा कोटवाधाम पर लोकगीत भी सुनाया- चलो चली कोटवा नगरिया हमार पिया साथ में चलिबे अकेले नही जइबे,
कोटवाधाम की है टेढ़ी-मेढ़ी डगरिया हमार पिया
महाविद्यालय में बीए की छात्रा ने हिंदी फिल्म का गाना सुनाया- हे मालिक तेरे बंदे हम ऐसे हो हमारे करम नेकी पर चलें और बदी पर चले ऐसे हो हमारे करम,
विद्यालय के एक छात्र आकाश वर्मा ने अवधि में मुक्त करते हुए कहा कि- कहते नहीं बनता है कुछ करना पड़ता है भुलाकर सारी मुश्किलों को अपनी जिद पर आना पड़ता है इतना आसान नहीं है सपनों का हकीकत हो जाना कभी दुनिया से तो कभी खुद से लड़ना पड़ता है। कैंप में उपस्थित प्राचार्य डॉ अर्चना त्रिपाठी कैंप में हिस्सा ले रहे सभी स्वयंसेवकों को बधाई देते हुए कहा कि क्या हम लोगों के लिए गौरव की बात है। जो हम सभी को कोटवाधाम जैसा तीर्थ स्थल सेवा करने को मिला था 7 दिन तक जिस प्रकार छात्र छात्राओं ने बड़ी लगन के साथ कार्य को किया है। वह सराहना के काबिल है। कैंप का संचालन रोली वर्मा ,व्यवस्थापक आलम विश्वकर्मा अमन मौर्या ,धनंजय शर्मा ,अभिषेक पांडेय आदि छात्रों ने किया ।आये हुए अतिथियों का स्वागत भी विद्यालय प्रबंधन ने किया तथा कार्यक्रमाधिकारी एवं रमाकान्त जी को भी उपनिदेशक जी द्वारा सम्मानित किया गया उपनिदेशक अभिनव शुक्ला जी ने कार्यक्रम की बधाई देते हुए आशीर्वचन दिया तथा रुचि के मार्ग पर चलने की सलाह दी ।समापन के महाविद्यालय के समस्त प्रवक्ता उपस्थित रहे तथा एक साथ भोजन ग्रहण किया ।