जलालपुर गांव के एक विशेष वर्ग के लोगों ने पत्रकार संतोष गुप्ता की मां मुन्नी देवी उर्फ गुन्नो तथा एक लड़का प्रमोद जो गांव में रहकर बाहर पंजाब में मजदूरी करता है सारे परिवार की बोट एक जात विशेष के लोगों ने पता नहीं कौन सी वैमनस्यता दूर करने के लिए पूरे घर की बोट कटवा दिए क्या यह गंदी राजनीति नहीं है मां गुन्नू उन्होंने अपना सारा जीवन गांव में गुलामी करते हुए व्यतीत कर रही हैं इस प्रकार वोट कटवा देने से गांव को यह लोग किस दिशा में ले जाएंगे क्या संदेश देना चाहते हैं समाज को क्या यह प्रधानी जीत कर गांव में खुशहाली ला पाएंगे एक वोट से कटवा देने से क्या प्रधानी जीत पाएंगे क्या सोच है किस प्रकार की राजनीति करते हैं पीठ पीछे छुरा घोंप ने से अगर इनको हमसे हमारे परिवार से कोई दिक्कत परेशानी है तो सामने आ कर बताना चाहिए इस प्रकार की गंदी राजनीति करना ठीक नहीं है क्या यह लोग अपने बच्चों को यही शिक्षा दे रहे हैं मैं तो इसकी निष्पक्ष जांच करवा कर लखनऊ तक मामला ले जाएंगे जिन जिन भी व्यक्तियों का इस साजिश में हाथ है उसका पर्दाफाश कर के ही रहूंगा यह मेरा वचन है