बाराबंकी (योगेश जायसवाल)। महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर क्षेत्र के शिवालयों में भक्तों का उमडा सैलाब। भोर पहर से लेकर देर शाम तक भक्तों ने शिवालयों में भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक कर पूजन अर्चन किया। शहर के प्राचीन नागेश्वर नाथ मंदिर में 4 से ही भक्तों का ताता लगा रहा, भोलेनाथ की बारात नागेश्वर नाथ मंदिर से दशहरा बाग स्थित बाबा पंचम दास कुटी तक निकाली जाती है जिसमें भक्त भूत प्रेत का रूप रखकर शामिल होते हैं बाबा पंचम दास कुटी पर शिव पार्वती का विवाह होता है। महाभारत कालीन पौराणिक कुंतेश्वर महादेव धाम में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। यहां भगवान भोलेनाथ के भक्तों ने जला अभिषेक कर पूजन अर्चन किया। इस पौराणिक स्थल पर प्रदेश के कोने-कोने से आए भगवान भोलेनाथ के भक्तों ने हर हर बम बम के नारे लगाते हुए भगवान का जलाभिषेक कर अपनी मनोकामनाएं पूर्ण होने की मंगल कामनाएं की हैं। भोर पहर से लेकर संध्या आरती तक हजारों भक्तों ने भगवान भोलेनाथ का दूध अक्षत फल फूल बेलपत्र आदि अर्पित कर भगवान का दर्शन पूजन किया। उप जिला अधिकारी प्रतिपाल सिंह चौहान ने अपने परिवार के साथ यहां पहुंच कर भगवान भोलेनाथ का जलाअभिषेक कर दर्शन पूजन किए। इस दौरान बाबा बर्फानीश्वर सेवा समिति बाराबंकी के अध्यक्ष कैलाश नाथ शर्मा एवं कुंतेश्वर महादेव सेवा समिति के अध्यक्ष जयचंद यादव ने उप जिलाधिकारी एवं उनकी धर्मपत्नी को अंग वस्त्र एवं भगवान भोलेनाथ कुंतेश्वर की परिचय पुस्तिका भेंट कर सम्मानित किया। मंदिर परिसर में समिति द्वारा सुबह से शाम तक भंडारे का आयोजन किया गया । जिसमें ब्रत धारियों को आलू प्रसाद फल एवं हलवा आदि का वितरण किया गया।