नई दिल्ली
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के अनुसार अगस्त महीने में EPFO में 10.50 लाख नए रजिस्ट्रेशन हुए हैं। इससे पहले जुलाई महीने में 7.48 लाख नए रजिस्ट्रेशन हुए थे। कोरोना महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन के कारण इसमें गिरावट आई थी। EPFO में रजिस्ट्रेशन के आंकड़े संगठित क्षेत्र में रोजगार की स्थिति को बताते हैं।
कोरोना के कारण बढ़ी बेरोजगारी ईपीएफओ के अनुसार जून महीने में 3.85 लाख, वहीं मई में EPFO में 3.18 लाख नए रजिस्ट्रेशन हुए थे। इससे पहले अप्रैल महीने में महज 1.33 लाख नए रजिस्ट्रेशन हुए थे। EPFO की तरफ से जारी शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक इस साल मार्च में नए रजिस्ट्रेशन घटकर 5.72 लाख रह गए थे। फरवरी, 2020 में 10.21 लाख नए लोग EPFO से जुड़े थे। कोरोनावायरस महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन के कारण इसमें गिरावट आई थी।
वित्त वर्ष 2019-20 में 78.58 लाख नए सदस्य जुड़े EPFO में हर महीने औसतन 7 लाख नए मेंबर जुड़ते हैं। EPFO की तरफ से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2019-20 में EPFO के साथ 78.58 लाख नए सदस्य जुड़े। इससे पिछले वित्त 2018-19 के दौरान यह आंकड़ा 61.12 लाख का रहा था। 2018 से EPFO जारी कर रहा आंकड़े ईपीएफओ अप्रैल, 2018 से नए सदस्यों के आंकड़े जारी कर रहा है। इसके लिए सितंबर, 2017 से आंकड़ों को शामिल किया जा रहा है। आंकड़ों के मुताबिक सितंबर, 2017 से अप्रैल, 2020 के बीच शुद्ध रूप से नए सदस्यों या सब्सक्राइबर्स की संख्या 1.75 करोड़ रही। ईपीएफओ के साथ सितंबर, 2017 से मार्च, 2018 के दौरान शुद्ध रूप से 15.52 लाख नए नोमिनेशन हुए थे।