बाराबंकी(सुधीर निगम) । क्रांतिकारी मानवाधिकार यूथ बिग्रेड के क्षेत्रीय कार्यालय का रामसनेहीघाट परिछेत्र स्थित भगवान पुर-दिलोंना बाईपास पर उद्घघाटन हुआ। क्रांतिकारी मानवाधिकार यूथ की बैठक भगवानपुर-दिलोना बाईपास स्थित कार्यालय पर संगोष्ठी का आयोजन हुआ। संगठन के अध्यक्ष अनिल कुमार ने दीप जलाकर कार्यक्रम का उद्घघाटन किया।उन्होंने कहा कि एक जनसेवक होने के नाते हम अपने क‌र्त्तव्यों के प्रति सजग एवं गंभीर होकर मानवाधिकार की रक्षा कर सकते है।क्रांतिकारी मानवाधिकार यूथ बिग्रेड के जिलाध्यक्ष आशीष सिंह पत्रकार ने कहा कि पेंशन,पुलिस ज्यादती,अभिरक्षा में यातना,मुठभेड़ में मृत्यु,लोक सेवक द्वारा उत्पीड़न,दहेज मृत्यु एवं दहेज की मांग, महिलाओं का उत्पीड़न, दुष्कर्म,हत्या,बाल मजदूर, बंधुआ मजदूरी, चिकित्सकीय लापरवाही आदि को क्रांतिकारी मानवाधिकार संबंधित मामला माना जाता है। उन्होंने कहा कि आधुनिक समाज से नैतिक भावनाओं का लोप होता जा रहा है, जिसका एक महत्वपूर्ण कारण मानवाधिकारों का हनन होता है। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष मो.इमरान ने कहा कि मन,क्रम और वचन के द्वारा किसी को ठेस पहुंचाना भी मानवाधिकार का उल्लंघन है। संगोष्ठी में मौजूद पत्रकार सूरज सिंह सिसौदिया ने कहा कि क्रांतिकारी मानवाधिकार आयोग के कार्याें एवं उपयोगिता पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि मानवाधिकार आयोग सरकार एवं जनता के बीच एक सेतु की भांति कार्य करेगा।कार्यक्रम का संचालन जिलाध्यक्ष आशीष सिंह पत्रकार के द्वारा किया गया।
मो इमरान ने क्षेत्रीय पत्रकारों का सम्मान कर मौजूद सभी कार्यकर्ताओं का धन्यवाद भी ज्ञापित किया। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार अमर बहादुर सिंह, आजाद हिंद मानवाधिकार से कुंवर बहादुर तिवारी , मो० अलीम, मोहम्मद फिरोज समेत अन्य उपस्थित रहे।