रामसनेहीघाट बाराबंकी( सुधीर निगम)। क्षेत्र के ग्राम सभा सिल्हौर के दूलम पुरवा चौराहा पर भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के द्वारा किसानों का आज तीसरे दिन अनिशचितकालीन धरना प्रदर्शन जारी है.गौरतलब है कि किसान अपनी मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे है लेकिन उनकी समस्या सुनने वाला कोई नहीं है। वहीं ब्लॉक महामंत्री संजय कुमार पांडेय ने बताया कि हमारे एक प्रतिनिधि मण्डल जिलाधिकारी से वार्ता करने के लिए गए थे लेकिन जिलाधिकारी जी से मुलाकात नहीं हो सकी उनके स्थान पर एडीएम साहब से वार्ता हुई है और उन्होंने कहा है कि आपकी मांग जायज है इसलिए हम कांटा लगाने का प्रयास जल्द से जल्द करेंगे। लेकिन प्रतिनिधि मण्डल ने कहा कि हम आपकी बात का सम्मान करते है लेकिन जब तक कांटा नहीं लगेगा तब तक हमारे किसान धरना स्थल पर धरना देते रहेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार कहती है कि विकास का रास्ता खेत और खलिहान से होकर जाता है लेकिन बड़ी मेहनत के बाद धान की फसल तैयार है अगर कांटा नहीं लगाया गया तो किसान अपना धान 1000 से 1100 रूपये तक बेचने पर मजबूर हो जायेगा।वहीं धरना प्रदर्शन को सम्बोधित हुए राधेश्याम यादव ने कहा कि किसान इस समय अगर किसी तरह से फसल बचा ले जाता है तो हम किसानों को उसका उचित मूल्य नहीं मिल पाता है। इसलिए हम सरकार से अनुरोध करते है कि हमारी मांगों को जल्द से जल्द पूरा किया जाये।वहीं धरने को सम्बोधित करते हुए उदय नारायण पाठक ने कहा कि हम किसान अपना हक़ मांग रहे। अगर हमारा हक़ हमें नहीं मिला तो हम यह लड़ाई आर -पार लड़ने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार कहती है कि हम किसानों के हित में कार्य करते है और दूसरी तरफ किसानो को अपना हक मांगने के लिए धरना प्रदर्शन और भूख हड़ताल का सहारा लेना पड़ रहा है।गौरतलब है कि शुक्रवार 16,10,2020 को उपजिाधिकारी रामसनेहीघाट को ज्ञापन सौंपकर शनिवार से किसानों ने अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन जारी कर दिया है वहीं इस अवसर पर संजय कुमार पाण्डेय ,राधेश्याम यादव, राजेश सिंह, आंनद कुमार, उमापति तिवारी, जनार्दन प्रसाद, सत्यम पांडेय, नरेंद्र पांडेय, पवन कुमार, विश्वनाथ मिश्रा , विंध्याचल मिश्रा ,उदय नारायण पाठक, पप्पू पाण्डेय, आदि सैकड़ों किसान मौजूद रहे.