औरैया (दीपक कुमार पाण्डेय) किसानों ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को मील का पत्थर बताया।

कंचौसी किसान आंदोलन के 40 वें दिन सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर किसानों ने हर्ष जताया और आशा जताई कि इस निर्णय से सरकार को सद्बुद्धि आएगी और भविष्य में ऐसा कोई कानून नहीं बनाएंगे जो कृषि एवं किसानों के लिए नुकसानदायक हो किसान आंदोलन के समर्थन में आंदोलन चला रहे मौलिक अधिकार रक्षा मिशन के संयोजक दिनेश चंद्र कुशवाहा ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर खुशी जताई उन्होंने कहा कि इस निर्णय से सरकार को सीख लेना चाहिए क्योंकि इस निर्णय से इसकी नैतिक हार हुई हैं और कहा कि अगर सरकार ने पुनः यह कानून लागू करने का प्रयास किया तो फिर आंदोलन करेंगे संस्थापक गिरीश सिकरवार ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को मील का पत्थर बताया उन्होंने कहा कि सरकार को सीख लेना चाहिए और किसी कानून को बनाने से पहले कम से कम उन लोगों से सहमति जरूर ले लेनी चाहिए.।