सिरौलीगौसपुर बाराबंकी। कृषि विभाग बाराबंकी द्वारा आयोजित नेशनल मिशन फॉर सस्टेनेबल एग्रीकल्चर ” कार्यक्रम आयोजन हुआ। जिसका आरम्भ मुख्यअतिथि बालगोविंद वर्मा क्षेत्र पंचायत सदस्य जीने फीता काट के किया ।
तत्पश्चात डॉ. राहुल कुमार वर्मा के द्वारा किसानों के बीच सस्टेनेबल एग्रीकल्चर के महत्व,जैविक कृषि के विभिन्न आयामों, सूक्ष्मजीवों का महत्व,जीरो बजट फार्मिंग,पशुओं का कृषि में महत्व एवं उपयोग बताया तथा सुभाष सिंह यादव जी मिट्टी के बारे में बताया कि कैसे इसकी शुद्धता मापी जाये कैसे मिट्टी की जांच करवाई जाए आदि विभिन्न विषयों पर चर्चा पर चर्चा हुई। इसके बाद कृषि विभाग के बी.टी.एम आर.पी.सिंह ने कहा कि मृदा परीक्षण के प्रति किसानों के अंदर जागरूकता की कमी है जिसके चलते मौजूदा समय में किसानों द्वारा रासायनिक उर्वरकों और दवाओं का अधिक प्रयोग किया जाता है जो मानव जीवन के ऊपर बहुत ही बुरा प्रभाव डालती है इसीलिए सभी को समय-समय पर मृदा परीक्षण अपनाने की जरूरत है ।कैमिकल्स और रासायिनक उर्वरकों के प्रयोग करने से जीव जंतु सहित मानव जीवन पर भी गहरा प्रभाव पड़ता है जिससे कई प्रकार की लाइलाज बीमारियां आती हैं। इसीलिए किसानों को मृदा परीक्षण के प्रति जागरूक करते हुए उन्होंने जैविक खेती करने पर बल दिया है । तथा किसानों को सस्टेनेबल एग्रीकल्चर के महत्व जैविक कृषि के विभिन्न आयामों सूक्ष्मजीवों का महत्व जीरो बजट फार्मिंग पशुओं का कृषि में महत्व एवं उपयोग आदि विभिन्न विषयों पर प्रकाश डाला। बाद सोसायटी फॉर कम्प्यूटर एजुकेशन एंड डेवपमेंट इन रूरल एरिया की तरफ से प्रतिभाग कर रहे श्री हिमांशु प्रताप सिंह ने सभी किसानों को माक्स ,पेन , पैड , तथा लंच पैकेट वितरण किया। इस अवसर पर मा०रामनरेश वर्मा, पुरुषोत्तम वर्मा, महराजदीन, रामकिसुन, नौमीलाल, राम सजीवन वर्मा, रामवीरेंद्र वर्मा, अरविंद वर्मा, रामकैलाश यादव आदि ग्रामवासी उपस्थित रहे।