बाराबंकी(सुधीर निगम) । थाना सुबेहा पुलिस द्वारा धोखाधड़ी से इश्योरेंश कम्पनी से क्लेम लेने वाले 03 अभियुक्तों को किया गया गिरफ्तार, अभियुक्तों के कब्जे से कथित चोरी गयी ट्रक को किया गया बरामद

आपको बता दें की थाना सुबेहा पुलिस द्वारा 03 शातिर अभियुक्तों 1. तुलसीराम तिवारी उर्फ बबलू तिवारी (ट्रक मालिक) पुत्र रामबक्श तिवारी निवासी ग्राम शरीफाबाद थाना सुबेहा जनपद बाराबंकी हाल पता गढ़ी वार्ड नगर पंचायत सुबेहा थाना सुबेहा जनपद बाराबंकी। (उम्र करीब 42 वर्ष, गिट्टी मौरांग की दुकान व ट्रक चलवाता है)
2. राजीव कुमार उर्फ राजू तिवारी (ट्रक मालिक का भतीजा) पुत्र शिवराम तिवारी निवासी ग्राम शरीफाबाद थाना सुबेहा जनपद बाराबंकी। (उम्र करीब 42 वर्ष, गिट्टी मौरांग की दुकान व ट्रक की देखरेख)
3.कालीराम मौर्या पुत्र परमेश्वर मौर्या निवासी ब्रम्हनान वार्ड कस्बा व थाना हैदरगढ़ जनपद बाराबंकी , ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर उनके द्वारा अपनी पुरानी ट्रक को बेच कर कटवा देने के उपरांत उसका नम्बर दूसरी ट्रक पर लगाकर धोखाधड़ी से इश्योरेंश का क्लेम के उद्देश्य से चोरी दिखाई गयी ट्रक को बरामद करने में सफलता मिली है ।

अभियुक्तों से पूंछताछ व साक्ष्य संकलन से प्रकाश में आया कि इनके पास वर्तमान में 02 ट्रक हैं तथा माह दिसम्बर के प्रथम सप्ताह में अपने तीसरे ट्रक नम्बर UP 41 AT 5484 इंजन नबर HDPZ116904 तथा चेसिस नम्बर MB1NACFD8HPEY4030 को ग्वालियर ले जाकर 04 लाख रूपये में कटवा कर बेच दिया था । अभियुक्तों ने एक योजना बनाई कि अपने ट्रक नम्बर UP 41 AT 4593 पर ट्रक नम्बर UP 41 AT 5484 का नम्बर डालकर इसे चोरी होना दिखा कर इश्योरेंश क्लेम ले लेंगे पुनः उस गाड़ी के इश्योरेंश का भी पैसा ले लेंगे । इसीलिए अभियुक्तों द्वारा अपने ट्रक नम्बर UP 41 AT 4593 पर ट्रक नम्बर UP 41 AT 5484 का नम्बर डालकर कुछ दिन पहले ढाबे पर और फिर घर के सामने खड़ी किया इस तरह आस-पास चलाकर अपनी दुकान व घर के सामने खड़ी करता रहा जिससे लोगो को विश्वास हो जाए यह गाड़ी उसी के पास है । पुलिस टीम द्वारा ट्रक बरामद होने पर उक्त वाहन का नंबर अपने मोबाईल के परिवहन ऐप मे डालकर देखा गया तो ट्रक का चेचिस नं- MBINACHD7HPVA8050 तथा इंजन नं- HVPZ142886 है । परन्तु बरामद ट्रक पर रजिस्ट्रेशन नम्बर UP 41 AT 5484 तथा इंजन नबर HDPZ116904 तथा चेसिस नम्बर MB1NACFD8HPEY4030 अंकित है, इंजन नम्बर और चेसिस नम्बर का मिलान न हो पाने के कारण ट्रक का वास्तविक नम्बर पुनः कड़ाई से पूछने पर बताया गया कि ट्रक नम्बर UP 41 AT 4593 है जिसको पुनः परिवहन ऐप के माध्यम से जांच की गयी तो बरामद वाहन का इंजन नंबर व चेसिस नम्बर क्रमशः HDPZ116904 व MB1NACFD8HPEY4030 पाया गया जो इस रजिस्ट्रेशन नम्बर के अनुरूप सही है । अभियुक्त द्वारा श्रीराम हाउसिंग फाइनेंस में क्लेम पाने के उद्देश्य से इश्योरेंस पर क्लेम लेने के लिए क्लेम भी कर दिया गया था ।