बाराबंकी (सुधीर निगम) । बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के मुख्य गेट पर बेसिक शिक्षा परिषद के अध्यापकों का नियुक्ति पत्र निरस्त करने के विरोध में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन एवं भूख हड़ताल. धरना प्रदर्शन एवं भूख हड़ताल पर बैठे अध्यापकों का कहना है कि 69000 शिक्षक भर्ती के सापेक्ष 31277 शिक्षक भर्ती में नवनियुक्त शिक्षकों को 16 अक्टूबर 2020 को नियुक्ति पत्र देकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कार्यभार ग्रहण कराया गया था एवं प्रथम चरण के नियुक्त शिक्षकों का विद्यालय आवंटन 29, 30 व 31 अक्टूबर 2020 को विभागीय विसंगत के कारण 24 शिक्षकों को रोक कर विभाग से निर्देश मांगे गए इस प्रक्रिया के दौरान सभी शिक्षकों ने बीएसए कार्यालय पर अपनी उपस्थिति 24 दिसंबर 2020 तक दर्ज कराई परंतु 21 दिसंबर 2020 को बिना किसी शासन के आदेश के बावजूद 24 शिक्षकों की नियुक्ति निरस्त करके 24 दिसंबर 2020 को निरस्तीकरण पत्र देकर 26 दिसंबर 2020 को तत्काल पूर्व पद (शिक्षामित्र) पर कार्यभार ग्रहण करने का निर्देश बीएसए बाराबंकी द्वारा दिया गया है जबकि शिक्षकों का कहना है कि बेसिक शिक्षा मंत्री का साफ निर्देश है कि बीएसए के द्वारा किसी का नियुक्ति पत्र निरस्त नहीं किया जाएगा और यदि ऐसा कोई आदेश किया है तो उसे निरस्त किया जाएगा । नियुक्ति निरस्त करने के विरोध में सभी 24 नवनियुक्त शिक्षक अपनी मांगों को लेकर क्रमिक अनशन व भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं और इन सभी का कहना है की शिक्षक के पद पर जब तक उनकी नियुक्ति बहाल नहीं की जाएगी उनका अनशन और भूख हड़ताल जारी रहेगी ।