सिरौलीगौसपुर बाराबंकी ।केन्द्र सरकार की बहुयामी योजना खेतौनी की तर्ज पर घरौनी तैयार करने का कार्य प्रगति पर है ।
बताते चलें कि 16 जून को अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार द्वारा जारी किये गये पत्र भारत सरकार की योजना ड्रोन का प्रयोग करके ग्रामीण क्षेत्र की आबादी का ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण करके उनके स्वामित्तव अभिलेख तैयार करने की भारत सरकार की योजना को तहसील प्रशासन सिरौलीगौसपुर द्वारा अमली जामा पहनाया जाना शुरू हुआ ।
सोमवार को तहसीलदार अखिलेश कुमार सिंह दीपक तिवारी ड्रोन पायलट आशीष सिंह उप पायलट एंव राजस्व निरीक्षक स्वामीनाथ सोनी लेखपाल अवधेश कुमार शुक्ला रेहान अहमद रवीन्द्र यादव ने मौलाबाद मे ड्रोन हवाई कैमरे के लिये हेली पैड बनवाया उसी के बगल स्थित कन्ट्रोलर से ड्रोन केमरे को उडान भराया जो एक बार मे मौलाबाद रजुवापुर पेरी अम्बियापुर गांवों का सफल क्रियान्वयन कर हेली पैड पर उतर कर उपर्युक्त गांवो का सफल रूप से कैमरे मे कैद किये गांवों के मानचित्रों का पायलट दीपक तिवारी व आशीष सिंह को गूगल पर मानचित्र दर्शाया उसके बाद दूसरी उडान बनौक से भरवायी गयी जिसमे कीढीपुरवा भैसोरिया खानपुर इनायत उल्ला राजस्व गांवो का सर्वे किया तत्पश्चात विकौली चौखंण्डी आदि गांवो का भी ड्रोन कैमरे से सर्वेक्षण किया जा रहा था । 21 दिसम्बर को तहसील सिरौलीगौसपुर के 30 राजस्व गांवों के सर्वेक्षण के सापेक्ष समाचार प्रेषण तक 30 गांवों का ड्रोन द्वारा सर्वे का कार्य पूरा कर लिया गया है ।
इस बाबत तहसीलदार ने बताया है कि आबादी के पास चंना छिडकाव करवा कर राजस्व गांवों मे बने घरों का नक्शा ड्रोन कैमरा कैद करके मानचित्र के आधार पर गृह स्वामियों की घरौनी दर्ज की जायेगी जिससे लोग लोन आसानी से ले सकेंगे राजस्व टैक्श का भी फायदा होगा ।उन्होंने बताया की तहसील क्षेत्र 189 गांवो के सापेक्ष 179 गांवो का ड्रोन मे मानचित्र लोड कराकर गांवों के घर मालिकों के नाम दर्ज कर स्वामित्व कार्ड घर मालिकों को दिये जायेंगे ।