बाराबंकी (सुधीर निगम)। शनिवार को कृषि कानून के विरोध में किसानों के द्वारा टोल जाम आह्रवान को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने व्‍यापक स्‍तर पर तैयारियां की हैं।किसान आंदोलन को लेकर स्थानीय पुलिस प्रशासन की जिले भर में सतर्क निगाह रखे है।
आंदोलन में भूमिका निभाने वाले विभिन्न किसान संगठनो के किसान नेताओं व कार्यकर्ताओ की गतिविधियों की निगरानी की जा रही है।विरोध प्रदर्शन में शामिल होने की आशंका पर घर में ही किसान नेताओं को नजरबंद किया जा रहा है।इसी कड़ी में भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के जिला उपाध्यक्ष शांति भूषण सिंह को उनके आवास पर असन्दरा पुलिस ने नजर बंद कर दिया है।शनिवार को तड़के ही असन्दरा थाने में तैनात एस आई दीपेन्द्र कुमार मिश्रा,दीवान शिवकुमार तिवारी,विनेश पाल समेत पुलिस टीम ने उनके आवास पर पहुच कर किसान नेता को आंदोलन में भाग लेने के लिए घर पर ही रोक कर रखा,वही भारतीय किसान यूनियन टिकैत के बनीकोडर ब्लॉक महामंत्री संजय कुमार पांडेय अपनी टीम के साथ अहमदपुर टोल पर प्रदर्शन में शामिल होने के लिए जा रहे थे,जिसकी भनक पुलिस प्रशासन को लगी और संजय पांडेय व उनके सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया असन्द्रा पुलिस ने टिकरा बबुआन के पास से बनीकोडर ब्लॉक महामंत्री संजय पांडेय उदय नारायण पाठक श्रवण पाठक समेत अन्य साथियों को असन्द्रा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया व किसान नेताओं के समर्थकों को प्रदर्शन करने से रोक दिया।उन्ही के साथ भारतीय किसान यूनियन(धर्मेंद्र)के अयोध्या मण्डल अध्यक्ष डॉक्टर उदय नारायण पाठक व भाकियू टिकैत किसान नेता प्रभाकर तिवारी सर्वेश, श्रवण पाठक व अन्य कार्यकताओं को भी पुलिस प्रशासन द्वारा नजर बंद कर दिया गया तो कुछ को गिरफ्तार किया गया।