बाराबंकी (सुधीर निगम)।असंद्रा थाना क्षेत्र पूरे परवानी मजरे भठिया का है जहाँ धूमधाम से बारात आई बारात,सुबह बारात विदाई के समय दोनों में अनबन कहासुनी होने लगी।बिना दुल्हन के लौटने पर वर पक्ष ने इसकी शिकायत पुलिस से कर कार्रवाई किए जाने की मांग की। खबर लिखने तक पुलिस दोनों पक्षों में सुलह समझौता कराने में जुटी रही।
मामला असंद्रा थाना क्षेत्र के पूरेपरवानी मजरे भठिया गांव का है। जहां शुक्रवार को कोठी थाना क्षेत्र के बसंतपुर गांव निवासी संदीप कुमार पुत्र सुखराम की बारात पूरेपरवानी गांव निवासी रामकुमार की पुत्री सुनीता के घर गई थी। संदीप का कहना है कि बारात का स्वागत से लेकर शादी तक सारे कार्यक्रम शांतिपूर्ण निपट गए। लेकिन सुबह लड़की के भाई उमेश कुमार व फूफा व अन्य शराब के नशे में धुत थे और बारातियों को जाबेजा गालिया देने लगे बारातियों को मारने पीटने के लिए बात आगे बढ़ते देख,विदाई में अड़चन डालने लगे। बताया कि मान्यता के अनुसार देवपूजन में चमड़े का विरोध करने लगे। इस बात से लेकर दोनों वह मेरी पत्नी सुनीता को विदाई से इनकार करने लगे। समझाने बुझाने के बाद भी नहीं मानने पर वह शिकायत पुलिस से की गई है दूल्हे का आरोप है कि लड़की पक्ष ने उनके एक लाख रुपए से अधिक कीमती जेवर को अपने कब्जे में लिया है। इस संबंध में पुलिस ने बताया कि दोनों पक्षों को बुलाया गया है। वार्ता चल रही है वार्ता विफल रही।
इस सम्बंध में थाना अध्यक्ष असन्द्रा शिवाकांत त्रिपाठी कहना है कि शिकायत मिली है,जांचकर विधिक कार्यवाही की जाएगी।