औरैया (दीपक पाण्डेय) मुकदमे के विरोध में शिक्षकों ने दिखाई एकजुटता।

 

 

 

 

 

स्कूलों में काली पट्टी बांधकर विरोध जताकर किया शिक्षण कार्य

 

 

यूटा पदाधिकारियों पर दर्ज कराये गए लूट के मुकदमे को लेकर शिक्षक लामबंद हैं।भ्रष्टाचार की शिकायत के बाद मुकदमे के विरोध में सोमवार को जिले के तमाम स्कूलों में शिक्षकों सहित समस्त स्टाफ ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताते हुए शिक्षण कार्य किया।यूटा ने कहा कि वे फर्जी मुकदमा को लेकर कार्यवाही होने तक शांत नहीं बैठेंगे और भ्रष्टाचार व अन्याय के खिलाफ़ अपना अभियान जारी रखेंगे।

 

 

आठ यूटा पदाधिकारियों पर बीईओ द्वारा बिधूना कोतवाली में दर्ज कराए गैर लूट सहित अन्य मुकदमे को फर्जी व शिक्षकों की छवि धूमिल करने के षड्यंत्र बताते हुए औरैया सहित अन्य जिलों के शिक्षक लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।रविवार को शिक्षकों ने सोशल मीडिया पर विरोध दर्ज किया था।सोमवार को जिले के तमाम स्कूलों के शिक्षक व शिक्षिकाओं ने पूरे दिन समस्त स्टाफ सहित काली पट्टी बांधकर विरोध जताते हुए स्कूलों में शिक्षण कार्य किया।शिक्षकों ने इन तस्वीरों को अपने एकाउंट से सोशल मीडिया फेसबुक व ट्विटर आदि पर भी शेयर किया। यूटा ब्लाक अध्यक्ष प्रवीण त्रिपाठी ने बताया कि शिक्षक समाज में नैतिकता का भी पाठ पढ़ाते हैं।भ्रष्टाचार के विरोध में यदि षड्यंत्र पूर्वक समाज में शिक्षक की छवि खराब कर दी जाएगी तो दूसरे वर्ग कैसे विरोध कर पाएंगे।उन्होंने कहा कि पूरा मामला फर्जी है और शिक्षकों की आवाज को बंद करने के लिए बहुत गहरा षड्यंत्र रचा जा रहा है।आंदोलन से ध्यान हटाने और डराने के लिए हमारे दूसरे शिक्षक साथियों को भी फर्जी मामलों में फंसाने का षड्यंत्र रचा जा रहा है।भ्रष्टाचारी अगर एकजुट हैं तो शिक्षक भी इनके खिलाफ कार्यवाही और न्याय मिलने तक लामबंद रहेंगे।यह तय है कि जीत सत्य की ही होगी भले ही देर से हो।उन्होंने कहा कि यूटा प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र राठौर जल्द इस मामले में अपर मुख्य सचिव व बेसिक शिक्षामंत्री से मिलेंगे।

 

 

इस दौरान धर्मेंद्र अम्बेडकर, विशाल पोरवाल, राहुल यादव, प्रवीन त्रिपाठी, विपुल चौहान, प्रदीप गुप्ता, विमल दुबे, प्रशांत लोहिया, प्रिंस पोरवाल,अवनीश राजपूत, इस्नो देवी, मोनिका गुप्ता, संगीता पोरवाल, विदुषी, आकांक्षा, सीमा पोरवाल, पूजा गुप्ता, सपना सिंह, कल्पना पोरवाल, स्नेहलता चौहान, मुकेश राजपूत, प्रशांत चतुर्वेदी, जितेंद्र सत्यार्थी, सुरेंद्र सिंह पाल, आशीष त्रिपाठी, नेत्रपाल सेंगर, विनोद कुमार, विनय कुमार,मुर्शिद सिद्दीकी, बिपिन गुप्ता, ऋषभ त्रिवेदी, ललितेश, दुर्गेश कुशवाहा, ध्रुव नारायन ओमर, धीर सिंह, ओमकार गौतम, धर्मेंद्र कुमार, लक्ष्मीकांत राजपूत, विजय, आदित्य गुप्ता, सुरेश प्रजापति, अजीत सिंह, अरविंद झारिया, महेश शर्मा, पीयूष पोरवाल, दीपक दीक्षित, बृजेन्द्र शर्मा, ओम चंद्र पोरवाल, कुलदीप तिवारी, हेमंत, मागवेन्द्र, अभिनव, नवदीप, अंकित बाबू, पीयूष यादव, अंकुल मिश्रा, आशीष गुप्ता, ज्ञान सिंह, गीता राजपूत, हर्षवर्धन, सुशील कुमार आदि शिक्षकों ने अपने स्कूलों में स्टाफ सहित काली पट्टी बांधकर विरोध जताया।

 

फ़ोटो-(स्कूलों में काली पट्टी बांधकर विरोध जताते शिक्षक व स्टाफ )