(जी.एन.एस) ता. 05
नई दिल्ली/लखनऊ
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लखनऊ में आयोजित न्यू अरबन इंडिया कॉन्क्लेव के उद्घाटन के अवसर पर प्रदेश के 75 हजार गरीबों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए गए घरों की चाबी सौंपी और करीब 4737 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात प्रदेश को दी। इस अवसर पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे समाज में परिवारों में घर, जमीन, गाड़ी कुछ भी खरीदा जाता है तो वो पति या पिता के नाम पर होता है।
घर की महिला के नाम पर कुछ नहीं होता है। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जो भी घर बनाए गए हैं। उनमें से 80 प्रतिशत का मालिकाना हक परिवार की महिला सदस्यों को दिया गया है। पीएम मोदी ने इस मौके पर प्रदेश के लोगों को एक होमवर्क भी दिया। उन्होंने कहा प्रदेश में अब तक जिन लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर मिले हैं वो दीवाली के अवसर पर अपने घरों में दो दिए जलाएं। प्रदेश के नौ लाख लोगों के घरों में दो दिए जलेंगे और अयोध्या में साढ़े सात लाख दिए जलाए जाएंगे। ये देखकर भगवान श्रीराम भी बहुत खुश होंगे।
लखनऊ में आयोजित इस तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में सरकार द्वारा मनाए जा रहे ‘अमृत महोत्सव’ के तहत केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय और प्रदेश नगर विकास विभाग द्वारा आयोजित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुझे अच्छा लगा कि भारत के शहरों के स्वरूप पर लखनऊ में आयोजित इस कार्यशाला में विशेषज्ञ मंथन कर रहे हैं। उन्होंने नागरिकों से भी अपील की है कि उन्हें भी लखनऊ में लगाई गई इस प्रदर्शनी को देखना चाहिए।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश भर में अब तक करीब एक करोड़ 13 लाख से ज्यादा आवास जनता को दिए जा चुके हैं। भारत आज पीएम आवास योजना के तहत जितने घर बना रहा है उसकी संख्या कई देशों की जनसंख्या से भी अधिक है। उन्होंने कहा कि जब मैं 2014 में प्रधानमंत्री बना और बड़े प्रोजेक्ट की बात की तो कुछ लोग आदतन सोचते थे कि यह कैसे हो पायेगा लेकिन आज उनकी सफलता को दुनिया देख रही है। मैं यूपी की जनता का विशेष आभार प्रकट करता हूं कि मुझे देश की जनता की सेवा करने का मौका दिया और मुझे संसद तक पहुंचाया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ऐसे लोग जो मुझ पर आरोप लगाते हैं कि मोदी ने क्या किया है तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि पीएम आवास योजना के तहत बने करीब तीन करोड़ घरों के कारण इन मकानों के मालिक आज लखपति बन गए हैं