औरैया (दीपक पांडेय) समकेतिक विद्यालय में भवन बनकर तैयार नही शुरू हो सकी कक्षाये।

 

 

 

दिव्यांगों की पढ़ाई के लिए जिले का एक मात्र कंचौसी क्षेत्र के हीरा नगर गांव में बना समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालय शोपीस साबित हो रहा है। विद्यालय सपा सरकार में वर्ष 2012 में नीव रखी गई थी वर्ष 2017 में समाज कल्याण विभाग द्वारा बनाकर तैयार किया गया था। तमाम प्रयास के बाद भी शिक्षण कार्य शुरू नहीं हो पाया है, जबकि वर्ष 2019 से शिक्षक व कर्मियों की भर्ती कर शिक्षण कार्य होना था। जिले के अलावा निदेशालय स्तर से अनदेखी की जा रही है। इस कारण 25 करोड़ की लागत से बना भवन अनदेखी में बदहाल होने लगा है।भवन में छात्रावास भी बनकर तैयार है । छात्र छात्राओं के समेकित विद्यालय का मकसद दिव्यांग छात्र-छात्राओं को आवासीय सुविधा देकर कक्षा छह से 12 तक विशेष तौर पर पढ़ाई-लिखाईप कराकर समाज की मुख्य धारा से जोड़ना है। इन्हें पढ़ाने के लिए अनुभवी व विशेष शिक्षक रखे जाने हैं, जिनका चयन नहीं हो सका है। विद्यालय में दिव्यांगों के अलावा सामान्य छात्र-छात्राएं भी पढ़ेंगे, जिनकी कक्षाएं अलग होंगी। हर कक्षा में 50-50 छात्र-छात्राएं रहेंगे।विद्यालय में कुछ दिनों पूर्व तक पीआरडी पुलिस द्वारा देखरेख की जाती है लेकिन वर्तमान समय में विद्यालय राम भरोसे है।विद्यालय में पिछले वर्ष लाखो की लागत से पौधरोपण किया गया था।देखरेख के अभाव में पौधे सूख चुके हैं।भवन परिसर में बरसात के पानी का जलभराव हो चुका है।कई बार जिलाधिकारी से लेकर नोडल अधिकारी द्वारा निरीक्षण किया जा चुका है।भवन बनने के 5 वर्ष बाद भी विद्यालय में क्लास नही शुरू हो सकी है।