औरैया (दीपक पाण्डेय) रेलवे फ्रंट कॉरिडोर की ऑटोमेटिक प्रणाली में तकनीकी खामी आने से नही बन्द हो सका रेलवे फाटक।

 

कंचौसी रेलवे फाटक पर बुधवार सुबह दस बजे अचानक रेलवे फ्रंट कॉरिडोर की ऑटोमेटिक प्रणाली में कहीं फाल्ट आने के कारण रेलवे फाटक बंद ना होने से अफरा-तरफी मच गई।रेलवे फ्रंट कॉरिडोर की अप और डाउन ट्रैक से मालगाड़ी निकलने के बाद रेलवे फाटक को खोला गया तो अचानक ऑटोमेटिक प्रणाली में खामी आ जाने से फाटक बंद नही हो सका जिससे रेलवे में अफरातफरी मच गई ।फिर वैकल्पिक व्यवस्था करके मैनुअल तरीके से रेलवे फाटक को खोला औऱ बन्द किया गया।स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस ,वन्दे भारत एक्सप्रेस ,जोधपुर हावड़ा एक्सप्रेस ,आगरा लखनऊ इंटरसिटी एक्सप्रेस ,टुंडला कानपुर मेमो सहित चार मालगाड़ियों को कासन के माध्यम से निकाली गई। वहीं क्रासिग पर तकनीकी खामी होने से आम राहगीर, वाहन, स्कूली वाहन ट्रक आदि घंटो से फंसे रहे। चार किलोमीटर परजनी, बिझाई, सूखमपुर आदि जाने को बिबस हुए है।रेलवे फाटक पर ड्यूटी कर गेटमैन रेलवे शैलेन्द्र कुमार व रेलवे फ्रंट कॉरिडोर गेटमैन मनेंद्र कुमार ने बताया रेलवे फ्रंट कॉरिडोर की मालगाड़ी निकलने के बाद ऑटोमेटिक प्रणाली में तकनीक खामी आ जाने से डेढ़ घण्टे तक परेशानी आयी थी।इस संबंध में स्टेशन अधीक्षक विशम्भर दयाल पांडेय ने बताया ऑटोमेटिक प्रणाली में तकनीकी खामी की वजह से समस्या उत्पन्न हुई थी रेलवे यातयात पर इसका असर नही पड़ा है।इंजीनियरो की मदद से खामी लगभग 12 बजे दुरस्त कर लिया गया है।