निष्पक्ष जन अवलोकन।
अजय रावत।
सिरौलीगौसपुर बाराबंकी। शौ शैय्या वाले संयुक्त चिकित्सालय सिरौलीगौसपुर की स्वास्थ्य सेवा दिन प्रतिदिन बदतर होती जा रही है ।शासन द्वारा इस शौ शैय्या वाले संयुक्त चिकित्सालय में अधीक्षक की नियुक्ति की गई थी की अस्पताल में सुधार और मरीजों को सुविधा मिलेगी ऐसा इस केन्द्र पर नही दिख रहा है।
इस शौ शैय्या वाले संयुक्त चिकित्सालय सिरौलीगौसपुर को भाजपा नेत्री एंव अध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमती राजरानी रावत ने गोद ले रखा है। एक बार इस चिकित्सालय का निरीक्षण भी किया है।
बताते चलें कि शासन द्वारा डा0नीलम गुप्ता को शौ शैय्या वाले संयुक्त चिकित्सालय का अधीक्षक नियुक्त किया डेली लखनऊ से अपडाउन करती एक माह तैनाती को हो रहे हैं। एक भी दिन अधीक्षक केन्द्र पर नहीं रुकी।जब घर का मुखिया समय से अस्पताल नहीं पंहुचेगा तो दूसरे भी उसी तर्ज को अपनाने लगते हैं।
मंगलवार को शौ शैय्या वाले संयुक्त चिकित्सालय सिरौलीगौसपुर मे सैकड़ों मरीज अपने अपने डाक्टरों को दिखाने के लिए ब्रेंचों पर बैठे दिखे । अधीक्षक 11 बजे आंयी और स्टाफ के साथ मीटिंग शुरू कर दी। जो घंटों तक चली मरीज आउट डोर में इधर उधर टहलते और बैठे हुए नजर आए।प्रदेश के मुख्यमंत्री जी ग्रामीण क्षेत्र की बदहाल स्वास्थ्य सेवा मे बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं तो वहीं शौ शैय्या वाले संयुक्त चिकित्सालय सिरौलीगौसपुर में तैनात स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी सरकार की छबि धूमिल करने मे लगे हुये हैं।