इटावा (विनय कश्यप)। प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने साफ किया है कि प्रदेश में हो रहे विधान सभा चुनाव में वह कोई उम्मीदवार खड़ा नही कर रहे हैं ताकि 2022 के विधान सभा चुनाव में उनकी पार्टी पूरी ताकत से चुनाव लड़ सके। हम सेक्यूलर दलों को एक जुट देखना चाहते हैं ताकि भारतीय जनता पार्टी के जंगलराज को उखाड़ फेंका जाए। प्रसपा अध्यक्ष ने रोषपूर्ण लहजे में कहा कि उत्तर प्रदेश को हमने बेहतर राज्य बनाने की ओर अग्रसर किया था मगर पिछले साढ़े तीन साल के योगीराज में प्रदेश बदहाल हो गया है, कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त है। विकास के मामले में प्रदेश बहुत पीछे चला गया।

उन्होंने बताया कि पिछले राज्यसभा चुनाव में हमने समाजवादी पार्टी को वोट दिया था। अब पार्टी प्रत्याशी की जीत के लिए अखिलेश को हमसे बात करनी होगी, तभी हम कुछ निर्णय लेंगे। शिवपाल सिंह ने कहा कि हम संघर्ष से नही घबराते।नौजवानों, किसानों की बदहाल स्थित के लिए हम कोइ भी संघर्ष और कुर्बानी के लिये हर समय तैयार हैं। अब हमारा एक मात्र लक्ष्य 2022 के चुनाव है। सत्ता पलटे वगैर इस प्रदेश को प्रगति के रास्ते पर नही लौटाया जा सकता। कोविड संक्रमण के नाम पर जमकर लोगों का उत्पीड़न हुआ है। नौकरशाही सत्ता की शह पर जबरदस्त ढंग से भ्रष्टाचार में लिप्त है।