निष्पक्ष जन अवलोकन।
अजय रावत।
सिरौलीगौसपुर। सरयू नदी घाघरा भले ही खतरे के निशान के ऊपर बह रही है। किंन्तु सरदहा परसा कहारनपुरवा गोबरहा तेलवारी भौरीकोल सनांवा कोठीडीहा सिरौलीगुंग बबुरी ढेखवा किसी भी गांव में बाढ का पानी नही पंहुचा सरयू नदी पेटे मे एक मीटर नीचे बह रही है। राजस्व प्रशासन सिरौलीगौसपुर व बाढ खंण्ड बाराबंकी के अधिकारी कर्मचारी सरयू नदी की बाढ की स्थिति पर पैनी नजर रखे हुए हैं।
गुरुवार को राजस्व निरीक्षक राकेश कुमार तिवारी लेखपाल विकास मिश्रा अजय कुमार रावत आदि राजस्व कर्मियों के साथ सनांवा कहारनपुरवा गोबरहा तेलवारी भौरीकोल इत्यादि गांवों में बाढ की स्थिति का जायजा लिया और उपजिलाधिकारी सुरेन्द्र पाल विश्वकर्मा को रिपोर्ट दी है। वहीं अधिशासी अभियंता बाढ खंण्ड शशिकांत सिंह ने गोबरहा गांव में बाढ की स्थिति एंव नदी के कटान का जायजा लिया। तत्पश्चात अधिशासी अभियंता ने पत्रकारों से कहा है कि गोबरहा गांव में रविनंदन द्विवेदी के घर से 4 मीटर दूरी पर नदी कटान रुका हुआ था जिसमें गैवीयान क्रेट में ईंट की बोरिंया नदी की सतह से डलवा कर कटान रोक लिया गया है।वंही अजय कुमार के गन्ने के खेत में हो रहे कटान को बांस के बैम्बू क्रेट में ईंट की बोरियां व झांखड डलवा कर नदी के पानी के वेग को कर करते हुये पानी को नदी की ओर मोड़ने का प्रयास जारी है।