निष्पक्ष जन अवलोकन।
अजय रावत।
सिरौलीगौसपुर बाराबंकी। सरयू नदी घाघरा का जलस्तर खतरे के निशान से नीचे पंहुचा अलीनगर रानीमऊ तटबांध के भीतर बसे गांवों सनांवा कोठीडीहा सिरौलीगुंग बबुरी ढेखवा परसा कहारनपुरवा गोबरहा तेलवारी भौरीकोल इत्यादि गांवों के ग्रामीणों ने ली राहत की सांस।
गुरुवार को सरयू नदी घाघरा का जलस्तर खतरे के निशान से नीचे आ गया नदी की दांती पर बसे गांव कहारन पुरवा गोबरहा तेलवारी भौरीकोल सनांवा कोठीडीहा सिरौलीगुंग आदि गांवों के ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। वहीं उपजिलाधिकारी सुरेन्द्र पाल विश्वकर्मा के आदेश पर राजस्व निरीक्षक राकेश कुमार तिवारी लेखपाल विकास मिश्रा अजय कुमार रावत आदि उपरोक्त गांवों को पंहुचकर नदी के जलस्तर का जायजा लिया।
बाढ खंण्ड के अवर अभियंता धनंजय तिवारी राहुल नारायण ने भी तेलवारी गोबरहा कहारनपुरवा पासिन टेपरा कुर्मिन टेपरा आदि नदी के दांती पर बसे गांवों में बाढ की स्थिति का जायजा लिया ।
उपजिलाधिकारी सुरेन्द्र पाल विश्वकर्मा ने पत्रकारों को बताया है कि सरयू नदी की बाढ का पानी गांवो में नही पंहुचा है और न ही नदी कहीं कटान कर रही है। राजस्व प्रशासन और बाढ खंण्ड के अधिकारी नजर रखे हुए हैं।