निष्पक्ष जन अवलोकन।
अजय रावत।
सिरौलीगौसपुर बाराबंकी। सरयू नदी घाघरा का बढा हुआ जलस्तर हुआ स्थिर बांध के भीतर बसे गांवों कहारन पुरवा गोबरहा तेलवारी भौरीकोल सनांवा कोठीडीहा सिरौलीगुंग बबुरी ढेखवा परसा सरदहा आदि गांवों के ग्रामीण भयभीत अपना समान समेट कर बाढ आने पर सुरक्षित स्थान पर जाने की कर रहे हैं तैयारी ।
बताते चलें कि सरयू नदी घाघरा मे नेपाल ने दो लाख दस हजार क्यूसेक पानी छोड़ा था जो कि गांवों में नही घुस पाया नदी के पेटे मे ही प्रवाहित होकर स्थिर हो गया है।
इधर नेपाल द्वारा सरयू नदी में पानी छोड़े जाने की सूचना पर उपजिलाधिकारी सुरेन्द्र पाल विश्वकर्मा ने राजस्व निरीक्षक राकेश कुमार तिवारी लेखपाल अजय कुमार रावत आदि राजस्व कर्मियों को बाढ क्षेत्र के गांवों में भेजकर ग्रामीणों को एलर्ट करने एंव बाढ की स्थिति पर नजर रखने के निर्देश दिए।के क्रम में राजस्व निरीक्षक लेखपाल बुधवार को कहारन पुरवा गोबरहा तेलवारी भौरीकोल सनांवा कोठीडीहा सिरौलीगुंग इत्यादि गांवों का भ्रमण कर बाढ की स्थिति का जायजा लिया। उधर बाढ खंण्ड के अधिशासी अभियंता शशिकांत सिंह सहायक अभियंता व अवर अभियंताओं के साथ गोबरहा तेलवारी कहारन पुरवा आदि गांवों का निरीक्षण किया है ।