औरैया (दीपक कुमार पाण्डेय)

कोविड-19 पार्ट टू के चलते पूरे प्रदेश में लाकडाउन लगाए जाने के बाद स्कूलों में छाई वीरानगी सोमवार को खुशियों में तब्दील हो गई। सरकार के निर्देश पर क्लास 9 से 12 तक के स्कूल खुले। ऐसे में स्कूलों का माहौल कुछ बदला हुआ नजर आया। मुंह पर मास्क लगाकर स्कूल गेट पर छात्राओं के पहुंचते ही सैनिटाइज किया गया। फिर कक्षाओं में दूरी बनाकर बच्चों को बैठाया गया। क्लास रूम में भी दोस्तों की एक फीट की दूरी रही। स्कूलों में शिक्षक और छात्र एक दूसरे से मिले।सभी छात्र-छात्राओं के चेहरे पर एक अलग मुस्कान झलक रही थी।कंचौसी कस्बे में स्थित मानस इंटर कॉलेज ,रामरतन इंटर कालेज, बालिका इंटर कॉलेज स्कूल सहित अन्य स्कूलों में कार्यालय सहित पठन-पाठन कार्य प्रारंभ हुआ। सोमवार को स्कूल पहुंची छात्राओं को कोविड-19 तथा सावधानियों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। स्कूल खुलने के बाद पहले दिन छात्राओं की संख्या बहुत कम रही। विद्यालय के शिक्षकों ने सभी विद्यार्थियों को शिक्षा विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक ही कक्षा में पहुंचने को कहा गया।हालांकि, स्कूलों में सोशल डिस्टेंस के साथ ही कोरोना की पूरी गाइडलाइन का पालन किया गया। लंबे समय के बाद स्कूल खुलने से विद्यार्थियों में भी स्कूल के प्रति उत्साह देखा गया। शिक्षा विभाग को मिले निर्देशों में यह स्पष्ट बताया गया था कि स्कूल खोलने के साथ ही उनमें कोरोना गाइडलाइन के साथ निर्देशों की पूरी पालन करनी होगी। इसके अनुरूप सभी कक्षाओं में कमरे की क्षमता के पचास प्रतिशत ही विद्यार्थी बिठाए गए। स्कूल खुलने के बाद पहले दिन विद्यालय पहुंची छात्राओं में विद्यालय पहुँचने पर उत्साह दिखा विद्यर्थियों ने बताया बहुत दिन बाद विद्यालय खुला और उत्साह के साथ विद्यालय पहुंचे तो यहां पढ़ने वाली छात्राओं के साथ यही शिक्षक और शिक्षिकाओं से मिलकर बड़ी खुशी हुई। प्रधानाचार्य उपेन्द्र शास्त्री ने बताया कि छात्राओं के बिना स्कूल सुनसान लग रहा था, अब परिसर गुलजार हो गया है। फिलहाल, स्कूलों में नौवीं क्लास में नामांकन की प्रक्रिया शुरू है। इसको लेकर छात्र-छात्राओं में काफी उत्साह देखने को मिल रहा