◆एम्बुलेंस में खत्म हुई ऑक्सीजन,पुलिस बनी मददगार
◆सूचना पाकर 6 मिनट से भी कम समय के रिस्पांस टाइम में पंहुची पीआरवी
◆ जिला अस्पताल में नही मिली ऑक्सीजन, कंट्रोल रूम ने दिलायी मदद
◆पुलिस की तत्परता से बची मरीज की जान, परिवारीजनों ने किया धन्यवाद

निष्पक्ष जन अवलोकन।
नितेश मिश्रा।
बाराबंकी। आमतौर पर एम्बुलेंस को जीवन दायिनी कहा जाता है किंतु तकनीकी समस्याओं के चलते कभी कभी यही जीवनदायिनी एम्बुलेंस भी समस्या से ग्रसित हो जाती है और उसमें मौजूद मरीज की जान खतरे में पड़ जाती है। ऐसी ही एक घटना शनिवार को घटित हुई जब अस्पताल ले जाते समय ऑक्सीजन सिलेण्डर में ऑक्सीजन खत्म होने की सूचना पर पुलिस पीआरवी द्वारा तत्काल ऑक्सीजन उपलब्ध कराकर ब्रेनहैम्रेज मरीज की जान बचायी गयी।

मामला जनपद के थाना सफदरगंज क्षेत्रान्तर्गत का है जहाँ पी0आर0वी0 संख्या 1718 व 1703 को न्यू पेट्रोल पम्प अन्तर्गत बाद दोपहर फोन करने वाले अजय कुमार शाह पुत्र बंका शाह निवासी ग्राम संकर सरैया थाना तुरकौलिया जनपद मोतिहारी पूर्वी चम्पारण राज्य बिहार ने मोबाइल से सूचना दी कि वह एम्बुलेंस से दिल्ली जा रहे है और ऑक्सीजन की आवश्यकता है।

सूचना मिलने के तत्काल बाद त्वरित कार्यवाही करते हुए मात्र 06 मिनट के अति अल्प समय में न्यू पेट्रोल पम्प निकट दादर चौराहा लखनऊ-अयोध्या हाइवे पर पहुँचकर जांच पड़ताल की, सूचना सही पायी गयी, एम्बुलेंस संख्या BR&PA4628 जो बिहार से दिल्ली एम्स हॉस्पिटल ब्रेनहैम्रेज के शिकार हुए मरीज को ले जा रही थी, एम्बुलेंस में उपलब्ध ऑक्सीजन सिलेण्डर काम नही कर रहा है।

पीआरवी कर्मचारीगण द्वारा बिना समय गवाये एम्बुलेंस का स्कोर्ट करते हुए जिला अस्पताल बाराबंकी ले जाया गया, जहां चिकित्सकों द्वारा बताया गया कि ऑक्सीजन खत्म हो गयी है। ऑक्सीजन खत्म होने की सूचना से पीआरवी कर्मचारीगण द्वारा 112 कन्ट्रोल रूम को अवगत कराया गया।

कन्ट्रोल रूम बाराबंकी द्वारा थाना कोतवालीनगर की पीआरवी संख्या 1703 को ऑक्सीजन उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित किया गया पीआरवी संख्या 1718 द्वारा एम्बुलेंस को असैनी मोड़ तक पहुँचाया गया। असैनी मोड़ पर पहले से ही तैयार खड़ी पीआरवी संख्या 1703 द्वारा उक्त एम्बुलेंस का स्कोर्ट करते हुए सारंग ऑक्सीजन फैक्ट्री बाराबंकी पहुँचकर ऑक्सीजन से भरा सिलेण्डर उपलब्ध कराया गया तथा मरीज के प्राणों की रक्षा की गयी।

पीआरवी कर्मचारीगण द्वारा सूचना पर त्वरित एवं सकारात्मक कार्यवाही के फलस्वरूप जीवन रक्षक ऑक्सीजन से भरा सिलेण्डर ब्रेनहैम्रेज के मरीज को दिलाकर उसके प्राणों की रक्षा करते हुए सकुशल उनके गन्तव्य को रवाना कराया गया। इस टीम में पी0आर0वी0 स्टाफ 1718 थाना सफदरगंज के अंतर्गत कमाण्डर इरशाद अहमद,सब कमाण्डर दिलीप कुमार व पायलट शिवराज अवस्थी तथा पी0आर0वी0 स्टाफ 1703 थाना कोतवाली नगर में कमाण्डर अफरोज अहमद,सब कमाण्डर रोहन कुमार मौजूद रहे।

पीआरवी पर तैनात कर्मचारियों ने अपने कर्तव्य का बखूबी निर्वहन किया है। जिस तरह पीआरवी की मदद से एक व्यक्ति की जान बच सकी है इससे आम जनमानस में पुलिस के प्रति जनता का विश्वास बढ़ेगा। पीआरवी कर्मचारियों की तत्परता एवं कार्य प्रसंशनीय है।- यमुना प्रसाद, पुलिस अधीक्षक