औरैया (दीपक कुमार पाण्डेय) पक्की छत ना होने से कच्चे मकान में रहने को मजबूर।

पिछले सप्ताह हुई लगातार बारिश ने कच्चे घरों में रह रहे लोगों की हालत खराब कर दी है। ग्रामीण क्षेत्रों में कई घर गिर गए हैं तो कई लोग खुले आसमान और टपकती छत के नीचे रहने पर मजबूर हैं। उनका कहना है कि कई बार प्रधानमंत्री आवास योजना में आवेदन किया लेकिन पक्की छत नसीब नहीं हुई। अब कच्चा घर भी बारिश ने छीन लिया।शासन की ओर से गरीबों के लिए चलाई गई प्रधानमंत्री आवास योजना में अक्सर अपात्रों को लाभ मिलने की बात सामने आती है। वहीं पात्रों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। बारिश में घर ढहने के बाद ऐसे लोगों ने पीड़ा बताई।भाग्यनगर ब्लॉक के ग्राम पंचायत कंचौसी गांव के मजरा मोहनपुर निवासी सलोनी देवी पत्नी रामजीलाल ,रामदेवी पत्नी मोतीलाल ,संगीता पत्नी संतोष ,ममता देवी पत्नी रामचन्द्र आदि लोगो ने बताया कई सालों से कच्चे मकान में रह रहीं है।बारिश में मकान भी गिर गए हैं उसका सपना है कि उसके पास भी पक्की छत हो। इसके लिए उसने कई बार अधिकारियों के चक्कर लगाए। लेकिन हर बार उसे निराशा ही हाथ लगी है। कई दिन से लगातार हो रही बारिश में उसका कच्चा मकान भी गिर गया। जिससे पूरा परिवार खुले व छप्पर के नीचे रहने पर मजबूर है।ग्राम प्रधान प्रमोद चौबे ने बताया सर्वे करवाकर पात्रो का नाम आवास की सूची में भेजा जाएगा।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

बाइट

 

 

 

 

पीड़ित सलोनी देवी